पिरैमिड आरेख

एक प्रमुख एकविम आरेख है।

पिरैमिड आरेख अथवा जनसंख्या पिरैमिड एक प्रमुख एकविम आरेख है जिसमें विभिन्न आयु वर्ग की जनसंख्या का एक त्रिकोणात्मक प्रदर्शन किया जाता है। इसका प्रतिपादन डब्ल्यू एम थामसन तथा आर्थर लेविस ने किया था। इस पिरैमिड में सबसे नीचे आधार पर निम्नतम आयु वर्ग की जनसंख्या (पुरुष एवं महिला) को प्रदर्शित करते हैं, जो सबसे बड़ी संख्या होती है, तथा क्रमशः घटते हुए आयु वर्ग पर चलते हैं। उच्चतम आयु वर्ग की जनसंख्या जो आकार में सबसे कम होगी, सबसे ऊपर प्रदर्शित होती है। इस प्रकार बड़े आधार से क्रमशः ऊपर घटते आकार पर चलते हैं और इस प्रकार बनी आकृति पिरैमिड की तरह होगी। यही जनसंख्या पिरैमिड कहलाता है। इसके दोनों किनारे क्रमशः शीर्ष बिंदुओं की ओर झुके रहते हैं जो प्रत्येक अगली आयु वर्ग में होने वाली मृत्यु के कारण कमी प्रदर्शित करते हैं।[1]

भारत की २००१ की जनगणना के अनुसार निर्मित जनसंख्या पिरैमिड या पिरैमिड आरेख

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Pyramid" (PDF). मूल (PDF) से 20 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 जनवरी 2019.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें