पुरानी तुर्की भाषा में लिखे बिलगे ख़ागान के शिलालेखों की एक नक़ल जो तुर्की के ग़ाज़ी विश्वविद्यालय में रखी है

पुरानी तुर्की भाषा (Old Turkic), जिसे ओरख़ोन तुर्की (Orkhon Turkic) और पुरानी उईग़ुर (Old Uyghur) भी कहते हैं, तुर्की भाषाओँ का सबसे पुराना प्रमाणित रूप है। यह ७वीं से १३वीं सदी ईसवी के गोएकतुर्क (Göktürk) और उईग़ुर लिखाइयों में मिलता है। यह तुर्की भाषाओँ में दक्षिणपूर्वी शाखा की सदस्य मानी जाती है जिसकी आधुनिक सदस्य उईग़ुर भाषा और चग़ताई भाषा हैं। यह बहुत सी लिपियों में लिखी जाती थी, जैसे की रूनी लिपि से देखने में मिलने वाली पुरानी तुर्की लिपि, भारत से उत्पन्न हुई ब्राह्मी लिपि, सोग़्दा से मिली एक लिपि से विकसित हुई प्राचीन उईग़ुर लिपि, इत्यादि।[1]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. The Turkic languages Archived 4 जुलाई 2014 at the वेबैक मशीन., Lars Johanson, Taylor & Francis, 1998, ISBN 978-0-415-08200-6, ... Old Uyghur is first recorded in runiform ... written in Uyghur, Manichaean, Brahmi and other scripts ...