पुरूरवा

(पुरुरवा से अनुप्रेषित)

पुरुरवा वैदिक काल के एक महान राजा और कालिदास कृत विक्रमोर्वशीयम् के प्रमुख पात्र थे। वे बुध और इला के पुत्र तथा प्रथम चंद्रवंशी राजा थे। उनका शौर्य इतना अधिक था कि अप्सरा उर्वशी उनसे प्रेम करने लगीं और उनसे विवाह करने के लिए इंद्रपुरी को त्याग कर पृथ्वी पर आ गई थीं।

उर्वशी और पुरूरवा ; राजा रवि वर्मा द्वारा चित्रित

ब्रह्माजी से अत्रि, अत्रि से चन्द्रमा, चन्द्रमा से बुध और बुध से इलानन्दन पुरूरवा का जन्म हुआ।

पुराणों के अनुसार, पुरुरवा ने 'प्रतिष्ठान' से शासन किया। उन्होंने भगवान ब्रह्मा की तपस्या की और वरदान के रूप में उन्हें पूरी पृथ्वी का शासक बनाया गया। पुरुरवा ने सौ अश्वमेध यज्ञों का आयोजन किया।