मानव या किसी अन्य जन्तु के शरीर की उस दशा को पूतीभवन या सजर्मता (सेप्सिस) कहते हैं जिसमें शरीर अपने ही ऊतकों या अंगों को नष्ट करने लगता है। स्पष्ट है कि यह एक जानलेवा स्थिति है।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें