पोप एलेक्ज़ेंडर छठे (1 जनवरी 1431 – 18 अगस्त 1503) 11 अगस्त 1492 से 18 अगस्त 1503 में अपनी मृत्यु तक रोमन कैथोलिक गिरजाघर के मुख्या पोप रहे थे। इन्हें पुनर्जागरण के समय के सबसे विवादित पोप में से एक माना जाता है। इन्हें एक पादरी से अधिक एक राजनयिक, राजनीतिज्ञ और नागरिक प्रशासक के रूप में ज्यादा ख्याति प्राप्त हुई थी।[1]

पोप एलेक्ज़ेंडर छठे
Pope Alexander Vi.jpg
पोप एलेक्ज़ेंडर छठे
जन्म Roderic Llançol i de Borja
1 जनवरी 1431
वैलेंसिया सम्राज्य
मृत्यु 18 अगस्त 1503(1503-08-18) (उम्र 72)
रोम
अन्य नाम Rodrigo Lanzol y de Borja
व्यवसाय पादरी, राजनयिक, राजनीतिज्ञ, नागरिक प्रशासक
प्रसिद्धि कारण पॉप
धार्मिक मान्यता रोमन कैथोलिक

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Gwynne, N. M. The Truth about Rodrigo Borgia, Pope Alexander VI. Lulu.com. पपृ॰ 7–8. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-2-917813-03-4. मूल से 4 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 12 अप्रैल 2014.