पोलोननरुवा श्रीलंका के उत्तर मध्य प्रान्त के पोलोन्नारुव' जिला का प्रमुख गाव है। ११वीं शताब्दी के पोलोन्नरु राज्य की ये राजधानी रही है। राजा विजयबाहू प्रथम नें इसे अपने राज्य की राजधानी घोषित किया था। श्रीलंका के चुनिंदा आठ विश्व धरोहर स्थलों में से ये एक हैं। [1]

युनेस्को विश्व धरोहर स्थल
पोलोननरुवा
विश्व धरोहर सूची में अंकित नाम
पोलोननरुवा राज महल
देश  श्रीलंका
प्रकार Cultural
मानदंड i, iii, vi
सन्दर्भ 201
युनेस्को क्षेत्र Asia-Pacific
शिलालेखित इतिहास
शिलालेख 1982 (6th सत्र)

इतिहाससंपादित करें

दक्षिण भारतीय चोल राजा और सिंहली विजयबाहू प्रथम, राजा परक्रामबाहू प्रथम और राजा निसानकम्ल्ला पोलोननरुवा के वास्तुशिल्प उपलब्धियों के लिए काफी हद तक जिम्मेदार थे।

चित्र दीर्घासंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "World Heritage - Ancient City of Polonnaruwa". UNESCO. मूल से 5 जुलाई 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 नवम्बर 2018.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें