मुख्य मेनू खोलें

सांख्यिकी और मात्रात्मक अनुसन्धान विधियों में, किसी बड़ी राशि में से चुनी हुई एक छोटी सी मात्रा को प्रतिदर्श या नमूना (सैम्पल) है। यह माना जाता है कि प्रतिदर्श के सांख्यिकीय गुण, पूरी राशि के सांख्यिकीय गुणों का प्रतिनिधित्व करते हैं। उदाहरण के लिए, माना किसी देश की जनसंख्या १ करोड़ है जिसके नागरिकों की औसत ऊँचाई जाननी है। इसके लिए, माना दस हजार लोगों को पूरी आबादी में से यादृच्छया (randomly) चुन लेते हैं और इन सभी लोगों की उंचाइयाँ नापकर उसका औसत ले लेते हैं। मोटे तौर पर हम कह सकते हैं कि पूरी आबादी की ऊँचाई का औसत भी लगभग इतना ही होगा। इस उदाहरण में पूरी आबादी १ करोड़ है किन्तु प्रतिदर्श का आकार केवल दस हजार है।