प्रतिलेखन जीन अभिव्यक्ति में पहला कदम है जिसमें डीएनए के किसी एक भाग को आर एन ए पॉलीमरेज एंजाइम के द्वारा आर एन ए में कॉपी किया जाता है। प्रतिलेखन के समय एक आरएनए पॉलीमरेज एक डीएनए अनुक्रम को पढता है और एक पूरक, प्रतिसमान्तर आरएनए स्ट्रैण्ड उत्पन्न करता है जिसे 'प्राथमिक प्रतिलेख' कहते हैं।

mRNA संश्लेषण और प्रसंस्करण का सरलीकृत आरेख; इनमें एंजाइम दिखाए नही गए हैं।

सन्दर्भसंपादित करें