चयनित चित्र सूचीसंपादित करें

चित्र 1 – 20संपादित करें

प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/1


एक कृष्ण विवर, किसी आकाशगंगा के सामने से गुज़रते हुए (एनीमेशन)। कृष्ण विवर के चारों ओर एक प्रकार का गुरुत्वीय लैंस होता है जिसके कारण यदि कोई तारा मण्डल उसके पीछे से गुज़रता है तो उसकी छवि विकृत हो जाती है।

प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/2


जंतर मंतर, जयपुर के जयप्रकाश यंत्र की विवरणात्मक तस्वीर। जंतर मंतर, जयपुर स्थित एक मध्यकालीन खगोलीय वेषशाला है, जो अब एक यूनेस्को विश्व धरोहर है

प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/3 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/3


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/4 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/4


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/5 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/5


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/6 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/6


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/7 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/7


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/8 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/8


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/9 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/9


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/10 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/10


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/11 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/11


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/12 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/12


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/13 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/13


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/14 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/14


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/15 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/15


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/16 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/16


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/17 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/17


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/18 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/18


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/19 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/19


प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/20 प्रवेशद्वार:खगोलशास्त्र/चयनित चित्र/20