प्राचीन यूनानी सभ्यता उस संस्कृति को कहते हैं जो यूनान और उसके नज़दीकी क्षेत्रों में लगभग आठवी शताब्दी ईसा-पूर्व से लगभग छठी शताब्दी इसाई तक (यानि क़रीब 1,300 वर्षों तक) विस्तृत थी। आधुनिक पश्चिमी संस्कृतियों की सब से गहरी जड़ इसी सभ्यता को माना जाता है, इसलिए पश्चिमी इतिहासकारों के लिए यूनानी सभ्यता हमेशा बहुत महत्वपूर्ण रही है।[1][2][3] माना जाता है के इस सभ्यता के बाद आने वाले रोमन साम्राज्य पर प्राचीन यूनान का गहरा असर था और उस साम्राज्य और संस्कृति के कई पहलुओं में यूनानी संस्कृति की छाप देखी जा सकती है।

एथेंस के ऐक्रोपोलिस स्थल में स्थित पारथ़ेनोन, जो अथ़ीना नामक देवी का मंदिर है

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Richard Tarnas, The Passion of the Western Mind Archived 22 जुलाई 2011 at the वेबैक मशीन. (New York: Ballantine Books, 1991).
  2. Colin Hynson, Ancient Greece Archived 22 जुलाई 2011 at the वेबैक मशीन. (Milwaukee: World Almanac Library, 2006), 4.
  3. Carol G. Thomas, Paths from Ancient Greece Archived 22 जुलाई 2011 at the वेबैक मशीन. (Leiden, Netherlands: E. J. Brill, 1988).