प्रीती सेनगुप्ता (गुजराती: પ્રીતિ સેનગુપ્તા) एक गुजराती कवयित्री व लेखिका है। उन्होंने 2006 में कुमार स्वर्ण चन्द्रक पुरस्कार प्राप्त किया। उन्होंने कई किताबे लिखी।.[1]

प्रीती सेनगुप्ता
Priti Sengupta.jpg
प्रीती सेनगुप्ता
स्थानीय नामપ્રીતિ સેનગુપ્તા
जन्म17 मई 1944 (1944-05-17) (आयु 76)
अहमदाबाद, गुजरात
व्यवसायकवयित्री, लेखिका
भाषागुजराती
राष्ट्रीयताभारतीय
शिक्षाएम.ए
उच्च शिक्षागुजरात विश्वविद्यालय
उल्लेखनीय कार्यs
  • जुइनु झुमका (1982)
  • खंडित आकाश(1985)
जीवनसाथीचन्दन सेनगुप्ता

हस्ताक्षर

जीवनसंपादित करें

प्रीती सेनगुप्ता का जन्म 17 मई 1944 को अहमदाबाद, गुजरात के रमणलाल और कान्तगौरी के घर में हुआ था। उन्होंनेे एस. एस. सी शेठ चिमनलाल नगीनदास विद्यालय से १९६१ में पूरी की। उन्होंने अंग्रेजी साहित्य के एक लेक्चरर के रूप में अपने कैरियर की शुरुआत एच. के. कला कॉलेज से की। वह न्यूयॉर्क, अमेरिका के लिए चली गए, जहाँ उन्होंने चंदन सेनगुप्ता से परिचित हुई और उनसे शादी कर ली। [2][3]

मान्यतासंपादित करें

2006 में वह कुमार स्वर्ण चन्द्रक व विश्वगुजरी पुरस्कार से सम्मानित हुई। [3]

यह भी देखेसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. शर्मा, राधेश्याम (1999). ( Question-based Interview with biographical literary sketches). रंनेदे प्रकाशन.
  2. Moole, Balkrishna Madhavrao। “सेनगुप्ता प्रीती”। गुजराती विश्वकोश: 820–821। गुजराती विश्वकोश ट्रस्ट।
  3. ब्रह्मभट्ट, प्रशाद (2010). અર્વાચીન ગુજરાતી સાહિત્યનો ઈતિહાસ - આધુનિક અને અનુઆધુનિક યુગ (आधुनिक गुजराती सहित्य का इतिहास ) (गुजराती में). अहमदाबाद: पार्श्व पब्लिकेशन. पपृ॰ 288–291. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-93-5108-247-7.