फरेब (1996 फ़िल्म)

1996 की विक्रम भट्ट की फ़िल्म

फरेब 1996 की विक्रम भट्ट द्वारा निर्देशित हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसमें अपनी पहली फिल्म में फराज खान और सुमन रंगनाथन मुख्य भूमिका में है।[1] मिलिंद गुनाजी द्वारा खलनायक की भूमिका निभाई गई है। फिल्म टिकट खिड़की पर सफल रही थी और इसका संगीत भी लोकप्रिय रहा था।

फरेब
फरेब.jpg
फरेब का पोस्टर
निर्देशक विक्रम भट्ट
निर्माता मुकेश भट्ट
अभिनेता फराज खान,
सुमन रंगनाथन,
मिलिंद गुनाजी
संगीतकार जतिन ललित
प्रदर्शन तिथि(याँ) 28 जून, 1996
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

डॉ. रोहन वर्मा (फराज खान) और उसकी पत्नी सुमन (सुमन रंगनाथन जो पेशे से एक शिक्षक है बंबई में बस गए हैं। उनकी खुशहाल, अमीर जीवन शैली है। जब वे एक सहायक पुलिस निरीक्षक इंद्रजीत सक्सेना (मिलिंद गुनाजी) से मित्रता करते हैं, तो वे कई बार उनकी सहायता के लिए आता है। इंद्रजीत सुमन के लिए लालसा रखे हुए है और इस तरह से व्यवहार करना शुरू कर देता है कि जोड़े का जीवन उखड़ जाए। उनकी शादी तोड़ने और सुमन को पाने के लिये वो अब किसी भी हद तक जाएगा।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत नीरज और इन्दीवर द्वारा लिखित; सारा संगीत जतिन-ललित द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आँखों से दिल में"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक5:55
2."ओ हम-सफर"अलका याज्ञनिक6:36
3."ओ हम-सफर" (II)उदित नारायण, अलका याज्ञनिक6:37
4."प्यार का मिलना"अभिजीत भट्टाचार्य, उदित नारायण4:13
5."प्यार का पहला पहला"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक5:00
6."ये तेरी आँखें झुकी झुकी"अभिजीत भट्टाचार्य3:21

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "फरहान का पहला प्यार थी ये एक्ट्रेस, तलाक के बदले मांगे थे 2 लाख रुपये महीना". आज तक. 26 जुलाई 2017. मूल से 25 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 जुलाई 2018.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

फरेब इंटरनेट मूवी डेटाबेस पर