फलदार वृक्षों के विभिन्न भागों को काटकर हटाना, काट-छांट (pruning) कहलाता है। इसके अन्तर्गत अनेकों औद्यानिक तकनीकें आतीं हैं जिनके द्वारा वृद्धि का नियन्त्रण, मृत एवं रोगग्रत शाखाएँ-प्रशाखाएँ हटाना, तथा पुष्प एवं फल वाली कलियाँ लगने को बढ़ावा दिया जाता है।

DSCN3598 espalieredpeartree e.JPG

इन्हें भी देखेंसंपादित करें