मुख्य मेनू खोलें

फ्रांसिस्को पेलसर्ट एक डच यात्री था जिसने सत्रहवीं शताब्दी के आरम्भिक दशकों में उपमहाद्वीप की यात्रा की थी। वह यहाँ के लोगों में व्यापक गरीबी देखकर आश्चर्यचकित था। उसने कृषकों की अत्यंत दयनीय दशा का मार्मिक चित्रण है।