बर्ट्रेंड रसेल (18 मई 1872 - 3 फ़रवरी 1970) अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त ब्रिटिश दार्शनिक, गणितज्ञ, वैज्ञानिक, शिक्षाशास्त्री, राजनीतिज्ञ, समाजशास्त्री तथा लेखक थे।बर्ट्रेंड आर्थर विलियम रसेल, तीसरे अर्ल रसेल, ओएम, एफआरएस (18 मई 1872 - 2 फरवरी 1970) एक ब्रिटिश गणितज्ञ, दार्शनिक, तर्कशास्त्री और सार्वजनिक बुद्धिजीवी थे।  उनका गणित, तर्क, सेट थ्योरी, भाषाविज्ञान, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, संज्ञानात्मक विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान और विश्लेषणात्मक दर्शन के विभिन्न क्षेत्रों, विशेष रूप से गणित के दर्शन, भाषा के दर्शन, ज्ञानमीमांसा और तत्वमीमांसा पर काफी प्रभाव था।[55]

बर्ट्रैंड रसल (अंग्रेजी में -'Bertrand Russell')
Bertrand Russell transparent bg.png
जन्म बर्ट्रैंड आर्थर विलियम रसल (अंग्रेजी में -'Bertrand Arthur William Russell')
१८ मई १८७२
Trellech, Monmouthshire,[1] United Kingdom
मृत्यु 2 फ़रवरी 1970(1970-02-02) (उम्र 97)
Penrhyndeudraeth, Wales, United Kingdom
राष्ट्रीयता British
पुरस्कार De Morgan Medal (1932)
Sylvester Medal (1934)
Nobel Prize in Literature (1950)
Kalinga Prize (1957)
Jerusalem Prize (1963)
हस्ताक्षर
Bertrand Russell signature.svg

वह 20वीं सदी के शुरुआती दौर के सबसे प्रमुख तर्कशास्त्रियों में से एक थे,[56] और अपने पूर्ववर्ती गोटलॉब फ्रेगे, अपने दोस्त और सहकर्मी जी.ई. मूर और उनके शिष्य लुडविग विट्गेन्स्टाइन के साथ विश्लेषणात्मक दर्शन के संस्थापक थे।[57]  मूर के साथ रसेल ने ब्रिटिश "आदर्शवाद के खिलाफ विद्रोह" का नेतृत्व किया। [ख] अपने पूर्व शिक्षक ए. एन. व्हाइटहेड के साथ, रसेल ने प्रिंसिपिया मैथेमेटिका लिखा,[58] शास्त्रीय तर्क के विकास में एक मील का पत्थर, और पूरे गणित को तर्क तक कम करने का एक बड़ा प्रयास (  तर्कवाद देखें)।  रसेल के लेख "ऑन डेनोटिंग" को "दर्शन का प्रतिमान" माना गया है।[59]

रसेल एक शांतिवादी थे जिन्होंने साम्राज्यवाद विरोधी का समर्थन किया[60] और इंडिया लीग की अध्यक्षता की। परमाणु एकाधिकार द्वारा प्रदान किए गए अवसर के समाप्त होने से पहले उन्होंने समय-समय पर निवारक परमाणु युद्ध की वकालत की और उन्होंने फैसला किया कि वे विश्व सरकार का "उत्साह के साथ स्वागत" करेंगे। प्रथम विश्व युद्ध के दौरान अपने शांतिवाद के लिए वे जेल गए।[61]  बाद में, रसेल ने निष्कर्ष निकाला कि एडॉल्फ हिटलर के नाज़ी जर्मनी के खिलाफ युद्ध "दो बुराइयों से कम" आवश्यक था और स्टालिनवादी अधिनायकवाद की भी आलोचना की, वियतनाम पर संयुक्त राज्य अमेरिका के युद्ध की निंदा की और परमाणु निरस्त्रीकरण के एक मुखर प्रस्तावक थे।  1950 में, रसेल को साहित्य में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था "उनके विविध और महत्वपूर्ण लेखन के लिए जिसमें उन्होंने मानवतावादी आदर्शों और विचार की स्वतंत्रता का समर्थन किया था"। वह डी मॉर्गन मेडल (1932), सिल्वेस्टर मेडल (1934), कलिंग पुरस्कार (1957) और जेरूसलम पुरस्कार (1963) के प्राप्तकर्ता भी थे।[62]

जीवनीसंपादित करें

रसेल का जन्म ट्रेलेक, वेल्स के प्राचीनतम एवं प्रतिष्ठित रसेलघराने में 18 मई सन् 1872 में हुआ था। तीन वर्ष की अबोधावस्था में ही ये अनाथ हो गए। इनके सर से माता-पिता का साया उठ गया। इनके पितामह ने इनका लालन-पालन किया। इनकी शिक्षा-दीक्षा घर पर ही हुई। उनका परिवार ब्रिटेन के उन ऐतिहासिक परिवारों में रहा, जिन्होंने ब्रिट्रेन की राजनीति में सदैव महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, लेकिन उस युग में स्त्री मताधिकार तथा जनसंख्या नियंत्रण जैसे वर्जित मुद्दों की वकालत के लिए यह परिवार विवादास्पद भी रहा। इनके अग्रज की मृत्यु के पश्चात् 35 वर्ष की वय में इन्हें लार्ड की उपाधि प्राप्त हुई। इनका चार बार विवाह हुआ। प्रथम विवाह 22 वर्ष की वय में और अंतिम 80 वर्ष की वय में।

शिक्षा एवं कार्यसंपादित करें

अर्ल रसेल ने ट्रिनिटी कॉलेज, कैम्ब्रिज से गणित और नैतिक विज्ञान की शिक्षा पाई। छत्तीस वर्ष की छोटी उम्र में ही उन्हें रॉयल सोसायटी का फेलो बना दिया गया। वे फेबियन सोसायटी, मुक्त व्यापार आंदोलन, स्त्री मताधिकार, विश्व शांति तथा परमाणु अस्त्रों के निषेध के पूर्ण समर्थक थे। उन्होंने कई विषयों पर अनेक पुस्तकें लिखीं, जिनमें प्रमुख हैं- हिस्ट्री ऑव वेस्टर्न फिलासॉफी, द प्रिंसिपल्स ऑव मेथेमेटिक्स, मैरिज एंड मॉरल्स, द प्राब्लम ऑव चायना, अनऑर्म्ड विक्ट्री तथा प्रिंसिपल्स ऑव सोशल रिकंस्ट्रक्शन आदि।

प्रारंभ से ही इनकी रुचि गणित और दर्शन की ओर थी, बाद में समाजशास्त्र इनका तीसरा विषय हो गया। इन्होंने 11 वर्ष की अल्प वय में गणित के एक सिद्धांत का अनुसंधान किया था जो इनके जीवन की एक महान घटना थी। गणित के क्षेत्र में इनकी देन शास्त्रीय थी, जिससे वह बहुत लोकप्रिय नहीं हो सके, लेकिन महानता निर्विवाद है। ए. एन. ह्वाइकहैड के सहयोग से रचित "प्रिसिपिया मैथेमेटिका" अपने ढंग का अपूर्व ग्रंथ है। इन्होंने "नाभिकी भौतिकी" और "सापेक्षता" पर भी लिखा है।

बट्र्रेंड रसेल "रायल ह्यूमन सोसाइटी" के सदस्य रहे। प्रथम विश्वयुद्ध के समय अपनी शांतिवादी नीतियों के कारण इन्हें जेलयात्रा करनी पड़ी। महायुद्ध की समाप्ति के पश्चात् "बोल्शेविज्म" पर एक ग्रंथ की रचना की। ये पेकिंग, शिकागो, हॉरवर्ड और न्यूयार्क के विश्वविद्यालयों में दर्शनशास्त्र के प्राध्यापक रहे। ये ब्रिटेन की "इंडिया लीग" के अध्यक्ष चुने गए थे। अत: भारत के स्वतंत्रता संग्राम से भी इनका निकट का संबंध था। अपनी इच्छा के विपरीत ये सदैव किसी न किसी विवाद या आंदोलन से संबंधित रहे। वृद्धावस्था में भी ये परमाणु-परीक्षणविरोधी आंदोलनों के सूत्रधार थे। "विवाह और नैतिकता" नाम की इनकी पुस्तक लंबी अवधि तक विवाद का विषय बनी रही। द्वितीय विश्वयुद्ध की विभीषिका के फलस्वरूप गणित और दर्शन के अतिरिक्त समाजशास्त्र, राजनीति, शिक्षा एवं नैतिकता संबंधी समस्याओं ने भी इनकी चिंतनधारा को प्रभावित किया। ये विश्वसंघीय सरकार के कट्टर समर्थक थे। इन्होंने पाप की परंपरावादी गलत धारा का खंडन कर आधुनिक युग में पाप के प्रति यथार्थवादी एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण का प्रतिपादन किया।

बट्र्रेंड रसेल बीसवीं शती के प्रख्यात दार्शनिक, महान गणितज्ञ और शांति के अग्रदूत थे। विश्व की चिंतनधारा को इतना अधिक प्रभावित करनेवाले ऐसे महापुरुष कभी कदाचित् ही उत्पन्न होते हैं। इन्हें मानवता से प्रेम था; ये जीवनपर्यंत इस युग के पाखंडों और बुराइयों के विरुद्ध संघर्षरत रहे। युद्ध, परमाणविक परीक्षण एवं वर्णभेद का विरोध इनका लक्ष्य था। दक्षिण वियतनाम में अमरीका के सैनिकों की बर्बरता और नरसंहार की जाँच के लिए संयुक्तराष्ट्र संघ से अंतर्राष्ट्रीय युद्धापराध आयोग के गठन की सबल शब्दों में माँग कर इस महामानव ने विश्वमानवता का सर्वोच्च स्थान पर प्रतिष्ठित किया।

सन् 1950 में इन्हें साहित्य का "नोबेल" पुरस्कार प्रदान किया गया। इन्होंने 40 ग्रंथों का प्रणयन किया था। "इंट्रोडक्शन टु मैथेमेटिकल फिलॉसॉफी", आउटलाइन ऑव फिलॉसॉफी" तथा मैरेज एेंड मोरैलिटी" इसकी महत्वपूर्ण कृतियाँ हैं।

3 फ़रवरी 1970 को 9८ वर्ष की वय में इनका देहांत हो गया।

सम्मान एवं पुरस्कारसंपादित करें

रसेल को कई पुरस्कार व सम्मान प्राप्त हुए, जिनमें ऑर्डर ऑव मेरिट (1949), साहित्य नोबल पुरस्कार (1950), कलिंग पुरस्कार (1957) तथा डेनिश सोनिंग पुरस्कार (1960) प्रमुख हैं। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रति अपनी सहानुभूति के कारण उन्हें ब्रिटेन में बनी इंडिया लीग का अध्यक्ष भी बनाया गया। प्रेम पाने की उत्कंठा, ज्ञान की खोज तथा मानव की पीड़ाओं के प्रति असीम सहानुभूति इन तीन भावावेगों ने उनके 97 वर्ष लंबे जीवन को संचालित किया।

हस्ताक्षरसंपादित करें

 

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Monmouthshire's Welsh status was ambiguous at this time.
  2. Ronald Jager (2002). The Development of Bertrand Russell's Philosophy, Volume 11. Psychology Press. पपृ॰ 113–114. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780415295451.
  3. Nicholas Griffin, संपा॰ (2003). The Cambridge Companion to Bertrand Russell. Cambridge University Press. पृ॰ 85. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780521636346.
  4. Roberts, George W. (2013). Bertrand Russell Memorial Volume. Routledge. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781317833024.
  5. Rosalind Carey, John Ongley (2009). Historical Dictionary of Bertrand Russell's Philosophy. Scarecrow Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780810862920.
  6. Ilkka Niiniluoto (2003). Thomas Bonk (संपा॰). Language, Truth and Knowledge: Contributions to the Philosophy of Rudolf Carnap. स्प्रिंगर. पृ॰ 2. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781402012068.
  7. Wolfgang Händler, Dieter Haupt, Rolf Jelitsch, Wilfried Juling, Otto Lange (1986). CONPAR 1986. स्प्रिंगर. पृ॰ 15. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9783540168119.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: authors list (link)
  8. Hao Wang (1990). Reflections on Kurt Gödel. MIT Press. पृ॰ 305. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780262730877.
  9. Phil Parvin (2013). Karl Popper. C. Black. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781623567330.
  10. Roger F. Gibson, संपा॰ (2004). The Cambridge Companion to Quine. Cambridge University Press. पृ॰ 2. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780521639491.
  11. Robert F. Barsky (1998). Noam Chomsky: A Life of Dissent. MIT Press. पृ॰ 32. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780262522557.
  12. François Cusset (2008). French Theory: How Foucault, Derrida, Deleuze, & Co. Transformed the Intellectual Life of the United States. U of Minnesota Press. पृ॰ 97. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780816647323.
  13. Alan Berger, संपा॰ (2011). Saul Kripke. Cambridge University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781139500661.
  14. Dov M. Gabbay, Paul Thagard, John Woods, Theo A.F. Kuipers (2007). "The Logical Approach of the Vienna Circle and their Followers from the 1920s to the 1950s". General Philosophy of Science: Focal Issues: Focal Issues. Elsevier. पृ॰ 432. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780080548548.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: authors list (link)
  15. Dermot Moran (2012). Husserl's Crisis of the European Sciences and Transcendental Phenomenology: An Introduction. Cambridge University Press. पृ॰ 204. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780521895361.
  16. Grattan-Guinness. "Russell and G.H. Hardy: A study of their Relationship". McMaster University Library Press. मूल से 4 जनवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 January 2014.
  17. Douglas Patterson (2012). Alfred Tarski: Philosophy of Language and Logic. Palgrave Macmillan. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780230367227.
  18. Rosalind Carey, John Ongley (2009). Historical Dictionary of Bertrand Russell's Philosophy. Scarecrow Press. पपृ॰ 15–16. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780810862920.
  19. Ray Monk (2013). Robert Oppenheimer: A Life Inside the Center. Random House LLC. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780385504133.
  20. Anita Burdman Feferman, Solomon Feferman (2004). Alfred Tarski: Life and Logic. Cambridge University Press. पृ॰ 67. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780521802406.
  21. Andrew Hodges (2012). Alan Turing: The Enigma. Princeton University Press. पृ॰ 81. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780691155647.
  22. Jacob Bronowski (2008). The Origins of Knowledge and Imagination. Yale University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780300157185.
  23. Nicholas Griffin, Dale Jacquette, संपा॰ (2008). Russell vs. Meinong: The Legacy of "On Denoting". Taylor & Francis. पृ॰ 4. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780203888025.
  24. Sankar Ghose (1993). "V: Europe Revisited". Jawaharlal Nehru, a Biography. Allied Publishers. पृ॰ 46. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170233695.
  25. "Street-Fighting Years: An Autobiography of the Sixties". Verso. पृ॰ 2005. मूल से 9 दिसंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जुलाई 2015.
  26. Michael Albert (2011). Remembering Tomorrow: From SDS to Life After Capitalism: A Memoir. Seven Stories Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781609800017.
  27. Jon Lee Anderson (1997). Che Guevara: A Revolutionary Life. Grove Press. पृ॰ 38. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780802197252.
  28. Marc Joseph (2004). "1: Introduction: Davidson's Philosophical Project". Donald Davidson. McGill-Queen's Press – MQUP. पृ॰ 1. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780773527812.
  29. James A. Marcum (2005). "1: Who is Thomas Kuhn?". Thomas Kuhn's Revolution: An Historical Philosophy of Science. Continuum. पृ॰ 5. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781847141941.
  30. Nathan Salmon (2007). "Introduction to Volume II". Content, Cognition, and Communication : Philosophical Papers II: Philosophical Papers II. Oxford University Press. पृ॰ xi. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780191536106.
  31. Christopher Hitchens, संपा॰ (2007). The Portable Atheist: Essential Readings for the Nonbeliever. Da Capo Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780306816086.
  32. Gregory Landini (2010). Russell. Routledge. पृ॰ 444. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780203846490.
  33. Carl Sagan (2006). Ann Druyan (संपा॰). The Varieties of Scientific Experience: A Personal View of the Search for God. Penguin. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781594201073.
  34. George Crowder (2004). Isaiah Berlin: Liberty, Pluralism and Liberalism. Polity. पृ॰ 15. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780745624778.
  35. Elsie Jones-Smith (2011). Theories of Counseling and Psychotherapy: An Integrative Approach: An Integrative Approach. SAGE. पृ॰ 142. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781412910040.
  36. "Interview with Martin Gardner" (PDF). American Mathematical Society. June–July 2005. पृ॰ 603. मूल से 8 जुलाई 2014 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 5 January 2014.
  37. Peter S Williams (2013). S Lewis Vs The New Atheists. Authentic Media Inc. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781780780931.
  38. Loretta Lorance, Richard Buckminster Fuller (2009). Becoming Bucky Fuller. MIT Press. पृ॰ 72. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780262123020.
  39. Dr. K. Sohail (February 2000). "How Difficult it is to Help People Change their Thinking – Interview with Dr. Pervez Hoodbhoy". मूल से 16 जुलाई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 December 2013.
  40. Bradley W. Bateman, Toshiaki Hirai, Maria Cristina Marcuzzo, संपा॰ (2010). The Return to Keynes. Harvard University Press. पृ॰ 146. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780674053540.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: editors list (link)
  41. Isaac Asimov (2009). I.Asimov: A Memoir. Random House LLC. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780307573537.
  42. Paul Kurtz (1994). Vern L. Bullough, Tim Madigan (संपा॰). Toward a New Enlightenment: The Philosophy of Paul Kurtz. Transaction Publishers. पृ॰ 233. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781412840170.
  43. John P. Anderson (2000). Finding Joy in Joyce: A Readers Guide to Ulysses. Universal-Publishers. पृ॰ 580. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781581127621.
  44. Paul Lee Thomas (2006). Reading, Learning, Teaching Kurt Vonnegut. Peter Lang. पृ॰ 46. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780820463377.
  45. Gregory L. Ulmer (2005). Electronic Monuments. U of Minnesota Press. पृ॰ 180. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780816645831.
  46. Paul J. Nahin (2011). "9". Number-Crunching: Taming Unruly Computational Problems from Mathematical Physics to Science Fiction. Princeton University Press. पृ॰ 332. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781400839582.
  47. Mie Augier, Herbert Alexander Simon, James G. March, संपा॰ (2004). Models of a Man: Essays in Memory of Herbert A. Simon. MIT Press. पृ॰ 21. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780262012089.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: editors list (link)
  48. William O'Donohue, Kyle E. Ferguson (2001). The Psychology of B F Skinner. SAGE. पृ॰ 19. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780761917595.
  49. Gustavo Faigenbaum (2001). Conversations with John Searle. LibrosEnRed.com. पृ॰ 28. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789871022113.
  50. William M. Brinton, Alan Rinzler, संपा॰ (1990). Without Force Or Lies: Voices from the Revolution of Central Europe in 1989–90. Mercury House. पृ॰ 37. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780916515928.
  51. David Wilkinson (2001). God, Time and Stephen Hawking. Kregel Publications. पृ॰ 18. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780825460296.
  52. Reiner Braun, Robert Hinde, David Krieger, Harold Kroto, Sally Milne, संपा॰ (2007). Joseph Rotblat: Visionary for Peace. John Wiley & Sons. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9783527611270.सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: editors list (link)
  53. Ned Curthoys, Debjani Ganguly, संपा॰ (2007). Edward Said: The Legacy of a Public Intellectual. Academic Monographs. पृ॰ 27. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780522853575.
  54. Azurmendi, Joxe (1999): Txillardegiren saioa: hastapenen bila, Jakin, 114: pp 17–45. ISSN 0211-495X
  55. Kreisel, Georg (1997-01-01). "Bertrand Arthur William Russell, Earl Russell, 1872-1970". Biographical Memoirs of Fellows of the Royal Society. 19: 583–620. डीओआइ:10.1098/rsbm.1973.0021.
  56. Clark, Ronald William (1976). The life of Bertrand Russell. Internet Archive. New York : Knopf. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-394-49059-5.
  57. Irvine, Andrew David (2022), Zalta, Edward N. (संपा॰), "Bertrand Russell", The Stanford Encyclopedia of Philosophy (Spring 2022 संस्करण), Metaphysics Research Lab, Stanford University, अभिगमन तिथि 2023-02-02
  58. Ludlow, Peter. "Descriptions". plato.stanford.edu (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2023-02-02.
  59. Rempel, Richard (1979). "From Imperialism to Free Trade: Couturat, Halévy and Russell's First Crusade". Journal of the History of Ideas. 40 (3): 423–443. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0022-5037. डीओआइ:10.2307/2709246.
  60. "India in Britain : South Asian networks and connections, 1858-1950 | WorldCat.org". www.worldcat.org (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2023-02-02.
  61. Inc, Educational Foundation for Nuclear Science (1946-10-01). Bulletin of the Atomic Scientists (अंग्रेज़ी में). Educational Foundation for Nuclear Science, Inc.
  62. "The Nobel Prize in Literature 1950". NobelPrize.org (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2023-02-02.


बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें