बलती एक तिब्बताई भाषा है जो पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र और भारत के लद्दाख़ केन्द्रशासित प्रदेश के करगिल क्षेत्र में बोली जाती है। यह आधुनिक तिब्बती भाषा से काफ़ी भिन्न है। पुरानी तिब्बती की कई ध्वनियाँ जो आधुनिक तिब्बती में खोई जा चुकी हैं, आज भी बलती में प्रयोग होती हैं।[1][2]

बलती
بلتی / སྦལ་ཏི་ / Balti
बोलने का  स्थान बल्तिस्तान, लद्दाख़
तिथि / काल 1992–2001
क्षेत्र पाक-अधिकृत कश्मीर (गिलगित-बल्तिस्तान), लद्दाख़ (कर्गिल)
समुदाय बलती लोग
मातृभाषी वक्ता 2,90,000
भाषा परिवार
लिपि अरबी-फ़ारसी लिपितिब्बती लिपि
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 bft

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी जोड़संपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Hammarström, Harald; Forkel, Robert; Haspelmath, Martin; Bank, Sebastian, eds. (2016). "Balti Archived 4 फ़रवरी 2017 at the वेबैक मशीन.". Glottolog 2.7. Jena: Max Planck Institute for the Science of Human History.
  2. Read, A.F.C. Balti grammar.London:The Royal Asiatic society, 1934.