मुख्य मेनू खोलें

बलदेव एक कस्बा हैै जो मथुरा जिले में आता है। बलदेव एक ऐतिहासिक एवं धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में प्रसिद्ध है। यहॉ पर दाऊजी महाराज का एक विश्व प्रसिद्ध मन्दिर है। यह कृष्ण के बड़े भाई थे। एक लंबे समय से बलदेव प्राचीन भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता का केंद्र रहा है। भारतीय धर्म, दर्शन कला एवं साहित्य के निर्माण तथा विकास में बलदेव का महत्त्वपूर्ण योगदान सदा से रहा है। संगीत के आचार्य स्वामी हरिदास जी जैसी महान आत्माओं से इस नगरी का नाम जुड़ा हुआ है।

बलदेव
शहर
देशFlag of India.svg भारत
राजउत्तर प्रदेश
जिलामथुरा
ऊँचाई176 मी (577 फीट)
जनसंख्या (2001)
 • कुल9,695
भाषाएँ
 • सरकारीहिंदी
समय मण्डलIST (यूटीसी+5:30)

जनसांख्यिकीसंपादित करें

2001 की जनगणना के अनुसार, बलदेव की 9,695 की आबादी थी।[1] पुरुषों की आबादी का 54% और महिलाओं की 46% है। बलदेव की औसत साक्षरता दर 63% है, जो राष्ट्रीय औसत 59.5% से अधिक है। जनसंख्या का 17% 6 साल से कम उम्र के हैं।

सन्दर्भसंपादित करें