मुख्य मेनू खोलें

पुराणों में वर्णनानुसार ब्रम्हांड घाट वह घाट है जहां भगवान श्री कृष्ण ने ब्रज रज का भोग किया था और माँ यशोदा के पूछने पर उन्हें अपने मुख में समस्त ब्रम्हांड के दर्शन कर दिए थे।