बालम खीरा

प्पाऊड्ःऍ की प्प्ऱाज्जाआटईञाआण्

बालम खीरा [English:Kigelia africana]का मूल स्थान पश्चिम अफ्रीका है। यह वृक्ष उष्ण कटबंधीय जलवायु का है। यह अफ्रीका के साथ-साथ भारत में लगभग सभी राज्यों में मिलता है। इस वृक्ष की ऊँचाई २० मीटर तक होती है।

Balamkheera tree (बालम खीरा ) in Kanpur,India

फलसंपादित करें

इसके फल ६० सेंटीमीटर तक लम्बे और ४ किलोग्राम भार वाले पाए जाते हैं। इनका आकार खीरे की तरह होता है जो शाखाओं से लटकते रहते हैं। इसके बीज अफ्रीका में त्वचा कैंसर के ईलाज में प्रयोग किये जाते हैं। [1]

 
Kigelia fruit

पत्तियांसंपादित करें

एक सींक पर सात या नौ पत्तियाँ होती हैं।

 
Leaves of Balamkheera

उपयोगसंपादित करें

यह औषधीय वृक्ष है। इसका फल पथरी की चिकित्सा में विशेष प्रयुक्त होता है। इसकी पत्तियाँ ,छाल ,पुष्प एवम जड़ भी औषधि के रूप में प्रयुक्त होती है। इसे पार्कों की शोभा बढ़ाने के लिए वहाँ रोपित किया जाता है।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 25 जुलाई 2016.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें