परमाणु भौतिकी में बाल्मर शृंखला (Balmer series) या बॉल्मर रेखाएँ (Balmer lines) हाइड्रोजन परमाणु की वर्णक्रमीय रेखाओं की छह रेखा-समूहों में से एक को कहा जाता है। इनका नाम स्विट्ज़रलैण्ड के योहान बाल्मर नामक भौतिकशास्त्री पर रखा गया था जिन्होंने इन रेखाओं की व्याख्या करने वाले एक समीकरण को विकसित करा था।[1]

हाइड्रोजन परमाणु की वर्णक्रमीय रेखाओं की बाल्मर शृंखला, जिसकी चार रेखाएँ मानवी आँखों द्वारा देखी जा सकती हैं

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Nave, C. R. (2006). "Hydrogen Spectrum". HyperPhysics. Georgia State University. मूल से 23 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2008-03-01.