मुख्य मेनू खोलें

लक्ष्मी नारायण मंदिर बिड़ला मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी को समर्पित यह मंदिर दिल्ली के प्रमुख मंदिरों में से एक है। इसका निर्माण 1938 में हुआ था और इसका उद्घाटन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने किया था। बिड़ला मंदिर अपने यहाँ मनाई जाने वाली जन्माष्टमी के लिए भी प्रसिद्ध है।

लक्ष्मीनारायण मंदिर
लक्ष्मी नारायण मंदिर
Laxminarayan Temple in New Delhi 03-2016.jpg
लक्ष्मी नारायण मंदिर
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
देवतालक्ष्मी नारायण (विष्णु और लक्ष्मी)
त्यौहारजन्माष्टमी, दीपावली
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिनई दिल्ली
देशभारत
लक्ष्मी नारायण मंदिर, दिल्ली की नई दिल्ली के मानचित्र पर अवस्थिति
लक्ष्मी नारायण मंदिर, दिल्ली
दिल्ली में अवस्थिति
भौगोलिक निर्देशांक28°37′58″N 77°11′56″E / 28.6327°N 77.1989°E / 28.6327; 77.1989निर्देशांक: 28°37′58″N 77°11′56″E / 28.6327°N 77.1989°E / 28.6327; 77.1989
वास्तु विवरण
प्रकारनागर शैली
निर्माताबी. डी. बिड़ला
निर्माण पूर्ण1939

अनुक्रम

स्थापत्यसंपादित करें

इसके वास्तुशिल्प की बात की जाए तो यह मंदिर उड़ियन शैली में निर्मित है। मंदिर का बाहरी हिस्सा सफेद संगमरमर और लाल बलुआपत्थिर से बना है जो मुगल शैली की याद दिलाता है। मंदिर में तीन ओर दो मंजिला बरामदे हैं और पिछले भाग में बगीचे और फव्वारे हैं।

इतिहाससंपादित करें

यह मंदिर मूल रूप में १६२२ में वीर सिंह देव ने बनवाया था, उसके बाद पृथ्वी सिंह ने १७९३ में इसका जीर्णोद्धार कराया। सन १९३८ में भारत के बड़े औद्योगिक परिवार, बिड़ला समूह ने इसका विस्तार और पुनरोद्धार कराया।

चित्र दीर्घासंपादित करें

 
लक्ष्मीनारायण मन्दिर के उद्घाटन के लिए पधारे गाँधीजी

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें