मध्य प्रदेश में ही सतना ज़िले में इस से मिलते-जुलते नाम वाले नगर के लिए बीरसिंहपुर का लेख देखें

पाली बीरसिंहपुर (Pali Birsinghpur), जिसे कभी-कभी केवल पाली (Pali) भी कहते हैं,यहां मां बिरासीनी का कल्चुरी कालीन 10 वी सदी का मन्दिर है,जिन्हें मां काली का ही एक रूप माना जाता है, मां बिरासीनी की भव्य प्रतिमा के साथ-साथ भगवान श्री हरिहर की प्रतिमा भी स्थापित है। यहां की अधिकांश आबादी आदिवासी गोंड,बैगा समुदाय निवासरत हैं।बिरसिंहपुर पाली गोंडवाना साम्राज्य के 52 गढ़ 57 परगनो में से एक है।यहां रेल्वे कॉलोनी स्थित रानी मोहल्ला गोंड रानी के नाम पर है,जहां आज भी रानी की बखरी के अवशेष हैं।साथ ही पर्यटन स्थल के रूप में यहां जुहिला नदी पर बना एक बांध है जो कि संजय गांधी ताप विद्युत केंद्र के द्वारा बिजली बनाने के उद्देश से उपयोग किया जाता है साथ ही हाइडल प्रोजेक्ट भी है।पाली नगर में secl द्वारा संचालित कोल माइंस भी है|भारत के मध्य प्रदेश राज्य के उमरिया ज़िले में स्थित एक नगर है। [1][2]

पाली बीरसिंहपुर
Pali Birsinghpur
बीरसिंहपुर पाली is located in मध्य प्रदेश
बीरसिंहपुर पाली
बीरसिंहपुर पाली
मध्य प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 23°21′N 81°03′E / 23.35°N 81.05°E / 23.35; 81.05निर्देशांक: 23°21′N 81°03′E / 23.35°N 81.05°E / 23.35; 81.05
देश भारत
राज्यमध्य प्रदेश
ज़िलाउमरिया ज़िला
जनसंख्या (2011)
 • कुल22,324
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)

इन्हें भी देखें संपादित करें

सन्दर्भ संपादित करें