अमूर्त बीजगणित के सन्दर्भ में, बीजगणितीय संरचना (algebraic structure), मोटे तौर पर, एक समुच्चय तथा उस पर परिभाषित एक या अधिक बाइनरी ऑपरेशनों से मिलकर बनता है जिन्हें कुछ अभिगृहीतों (axioms) को सन्तुष्ट करना आवशयक होता है। अमूर्त बीजगणित वस्तुतः बीजगणितीय संरचनाओं का अध्ययन ही है।

समूह (ग्रुप्स), रिंग, रिंग और लैटिस, वेक्टर स्पेसेस, मॉड्युल्स और अल्जेब्राज आदि कुछ प्रमुख बीजगणितीय संरचनाएँ हैं।