मुख्य मेनू खोलें

बीस साल बाद (1988 फ़िल्म)

1988 की राजकुमार कोहली की फ़िल्म

बीस साल बाद 1988 में बनी हिन्दी भाषा की डरावनी फ़िल्म है। इसका निर्देशन राज कुमार कोहली ने किया और इसमें मिथुन चक्रवर्ती, डिम्पल कपाड़िया, मीनाक्षी शेषाद्री, विनोद मेहरा, अमज़द ख़ान, शक्ति कपूर, अनुपम खेर और ओम प्रकाश हैं।

बीस साल बाद
बीस साल बाद (1988 फ़िल्म).jpg
बीस साल बाद का पोस्टर
निर्देशक राज कुमार कोहली
लेखक ललित महाजन
अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती,
डिम्पल कपाड़िया,
मीनाक्षी शेषाद्री,
संगीतकार लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1988
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

किरन (मीनाक्षी शेषाद्री) धनी और विधुर ठाकुर (अनुपम खेर) की इकलौती संतान हैं। जबकि वह ब्रिटेन में रहती है, उसके पिता ग्रामीण भारत में एक महलनुमा घर में रहते हैं। जब उसके घर लौटने का समय होता है, तो उसके पिता उसे लेने के लिए हवाई अड्डे पर पहुंचते हैं और उसे एक युवक के साथ देखकर आश्चर्यचकित हो जाते हैं। वह बाद में उसे अपने पति सूरज (मिथुन चक्रवर्ती) के रूप में परिचित कराती है। सूरज को देखकर लगे झटके पर ठाकुर काबू पा लेता है और उसका स्वागत करता है।

गाड़ी चलाते समय सूरज सफेद रंग की एक महिला को सड़क पर चलते हुए देखता है, लेकिन ड्राइवर समय पर गाड़ी को रोक नहीं पाता है। वे कार से उतरते हैं और ध्यान देते हैं कि सड़क पर कोई नहीं है। उस रात, सूरज को सफेद कपड़े में महिला के बारे में सपना आता है जो उसे उसके पास बुला रही है। वह यह दावा करती है कि वह पिछले जन्म से उसकी पत्नी निशा है। अपनी जादुई शक्तियों का उपयोग करते हुए, वह अमावस्या की रात को सूरज के पैरों में एक कील लगा देती है। उसे बस इतना करना होता है कि अगले नए चाँद की प्रतीक्षा करें, फिर सूरज के दूसरे पैर में एक और कील डालें और फिर करवाचौथ की प्रतीक्षा करें। यही वह दिन है जो उसको पूरी तरह से निशा के नियंत्रण में रखेगा। निशा के पास ठाकुर के बदला लेने की भी एक वजह है। किरन यह सब नहीं देख सकती और वह और उसके पिता तांत्रिक बाबा (शक्ति कपूर) और भवानी बाबा (अमज़द ख़ान) की मदद लेते हैं। सवाल बना हुआ है; क्या तांत्रिक और भवानी उनकी सहायता कर पाएंगे या वे भी बुरी आत्मा का शिकार हो जाएंगे?

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत आनंद बख्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."हम तुम्हें इतना प्यार करेंगे"मोहम्मद अज़ीज़, अनुराधा पौडवाल7:10
2."कितने सावन बरस गये" (I)अनुराधा पौडवाल7:00
3."जागो जागो देवी माता"अनुराधा पौडवाल5:40
4."मेरे सामने तू दिन रात"मोहम्मद अज़ीज़, सारिका कपूर5:45
5."ओ बलिये नि चल चलिये"मोहम्मद अज़ीज़, अनुराधा पौडवाल5:36
6."कितने सावन बरस गये" (II)अनुराधा पौडवाल2:56

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें