बी॰एफ॰ स्किनर

अमेरिकी व्यवहार विज्ञान विशेषज्ञ

बुर्ह फ्रेडरिक स्किनर जो आमतौर पर बि एफ स्किनर के नाम से जाने जाते है, एक अमरिकी मनोवैज्ञानी, व्यवहारवादी, लेखक, आविष्कारक और सामाजिक दर्शनिक थे। सऩ १९५८ से १९७४ में सेवानिवृत होने तक हार्वर्ड विश्वविध्यालय में मनोविज्ञन के एडगर पियर्स प्रोफेसर थे। स्किनर स्वतंत्र इच्छा को भ्रम मानते थे। उन के अनुसार मानव कारवाई अपने पिछले कार्यों के परिणामों पर निर्भर है। अगर परिणाम खराब है तो ज्यादातर वो कारवाई दोहराई नही जाएगी और अगर परिणाम् अच्छा है तो कार्य और संभावित बन जाएगा। स्किनर इस सुदृढ़ीकरण सिद्धांत कहते थे। स्किनर ने व्यवहार को मज़बूत करने को सुदृढीकरण के उपयोग को स्फूर्त अनुकूलन कहा है और प्रतिक्रिया ताकत को मापने के लिए प्रतिक्रिय दर को सबसे कारगार उपाय माना जाता है। स्फूर्त अनुकूलन चेंबर का अविष्कार किया, जिसे'स्किनर बाक्स' के नाम से जाना जाता है। दर को मापने के लिए उन्होने संचयी रिकार्डर का अविष्कार किया। इन उपकरणों का इस्तमाल कर वे और सी बी फेरस्टर ने अपनी सबसे प्रभावशाली प्रयोगात्मक कार्य का उत्पादन किया जो सुदृढीकरण की अनुसूचियाँ नामक किताब में छपी। स्किनर ने विज्ञान के दर्शन का विकसित किया जिसे वे कट्टरपंथी व्यवहारवाद कहते थे। उन्होने प्रयोगिक अनुसंधान मनोविज्ञान- व्यवहार का प्रयोगात्मक विश्लेश का एक स्कूल की स्थापना की। अपने उथोपियन उपन्यास 'वालडन टू' में मानव समुदाय को डिज़ाईन करने के लिये अपने विचारों के आवेदन कि कलपना की और मान्व व्यवहार का उनका विश्लेषण उनके मौखिक व्यवहार में समापन हुआ। २२७ स्किनर एक विपुल लेखक थे जिनकी २१ पुस्तकें और १८० लेख प्रकाशित हुई। समकालीन शिक्षा जान बी वाटसन और इवान पावलोव के साथ साथ स्किनर २०वीं सदी की सबसे प्रभावशाली मनोचिकित्सक के रूप मे सूचिबद्ध हैं।

बी॰एफ॰ स्किनर
B.F. Skinner at Harvard circa 1950.jpg
जन्म 20 मार्च 1904[1][2]
मृत्यु 18 अगस्त 1990[1][2]
मृत्यु का कारण रक्त का कैंसर
आवास संयुक्त राज्य अमेरिका
नागरिकता संयुक्त राज्य अमेरिका[3]
शिक्षा हार्वर्ड विश्वविद्यालय
व्यवसाय दार्शनिक, आविष्कारक, लेखक
नियोक्ता हार्वर्ड विश्वविद्यालय
पुरस्कार नेशनल मेडल ऑफ सांइस
हस्ताक्षर
BF Skinner signature.svg

जीवनीसंपादित करें

स्किनर, ग्रेस और विलियम स्किनर को सुसक्वाहाना, पेंसिल्वेनिया में जन्मे थे। उनके पिता एक वकील थे। उन के भाई का १६ साल कि उम्र मे मस्तिष्क रक्तश्राव के वजह से निधन हो गया। लेखक बनने के इरादे से उनहोंने न्यूयार्क के हैमिलटन कालेज में दाखला ली। १९२६ में अंग्रेज़ी साहित्य में बी ए हासिल करने पर वे हार्वर्ड विश्वविद्यालय गये जहाँ वे अनुसंधानिक, शिक्षक और आखिर में प्रतिष्ठित बोर्ड के सदस्य बने। हार्वर्ड में उन के सहपाठी फ्रेड केलर ने उन्हे व्यवाहार के अध्ययन से एक प्रयोगिक विज्ञान बनाने का प्रोत्साहन दिया। इस की बदौलत उनका स्किनर बाक्स का अविष्कार किया और केलर के साथ मिल के छोटे प्रयोगोंके लिये उपकरणों का निर्माण किया। बी वाटसन् के व्यवहारिक्ता से परिचित होने पर उनहोंने मनोविज्ञान का अध्यायन शुरू किया और व्यवहारिक्ता पर अपना संस्करण विकसित किया। स्किनर ने १९३१ मे हार्वर्ड से पी एच डी हासिल की और १९३६ तक शोधकरता के रूप मे वहां रहे। फिर वे मिनेपोलिस मे मिनेसोटा विश्वविध्यालय और फिर ईनडिआना विश्वविध्यालय मे पढाने लगे जहां वे मनोविज्ञन विभाग के अध्यक्ष थे और १९४८ मे हार्वर्ड् वापस लौट आये। १९३६ मे उन की विवाह युवान ब्लू से हुई और उन के दो बेटियाँ हुई। अगस्त १९९० मे लुकेमिया से उन कि मौत हुई। अपने मृत्यु के कुछ दिन पहले तक भी वे काम करते रहे। अमेरिकन साईकोलोगिकल एसोसिएशन द्वारा उनहे लैफटैम अचीवमेंट पुरस्कार दिया गया वहां अपने काम के विशय मे १५ मिनिट का भाशण भी दिया। मानव व्यवहार का अध्ययन करने के लिये वैज्ञानिक द्र्ष्टिकोण लाने के लिए सम्मानित किये गये हैं।

मनोवैज्ञानिक सिद्धांत के लिए योगदानसंपादित करें

आचरणसंपादित करें

स्किनर ने व्यवहार के अध्यायन के अपने द्रष्टिकोण को कट्टरपंथी व्यवहारिकता कहा है। व्यवहार विज्ञान दर्शन का मानना है कि व्यवहार, सुदृढीकरण के परयावरिण इतिहास का परिणाम है। पद्धति व्यवहार के विपरित,स्किनर के कट्टरपंथी व्यवहारवाद विचारों,भावनाओं और निजी घटनाओं के खुले व्यवहार के नियमों को प्रतिक्रिया के रूप में स्वीकार किया।

सुदृढीकरणसंपादित करें

सुदृढीकरण, व्यवहारिकता का एक महत्वपूर्ण अवधारण,व्यवहार को आकार और नियंत्रित करने का प्राथमिक प्रक्रीया है और दो तरीके से होता है,'सकारात्मक' और 'नकारात्मक। बिहेव्यर एफ ओरगेनिसम्स में स्किनर ने यह परिभाषित किया है की नकारात्मक सिदृढीकरण सज़ा है। किसी घटना के घटने से व्यवहार का मज़बूत होना सकारात्मक सिदृढीकरण है( जैसे किसी अच्छे व्यवहार पर प्रशंसा पाना)।

वैज्ञानिक आविष्कारसंपादित करें

 
स्किनर द्वारा निर्मित पढाने का यंत्र
  • १) स्फुर्त अनुकूल चेंबर
  • २) संचयी रिकारडर
  • ३) शिक्षण मशीन (चित्रित)
  • ४) हवा पालना(एर क्रिब)
  • ५) कबूतर निर्देशित मिसाइल
  • ६) मौखिक सूमेटर

मानद उपाधियाँसंपादित करें

  • १) अल्फ्रेड विश्वविध्यालय
  • २) बाल स्टेट विश्वविध्यालय
  • ३) डिकनसन कालेज
  • ४) हामिलटन कालेज
  • ५) हार्वर्ड विश्वविध्यालय

सन्दर्भसंपादित करें

  1. German National Library; Berlin State Library; Bavarian State Library; Austrian National Library, https://www.dnb.de/EN/Professionell/Standardisierung/GND/gnd_node.html एकीकृत प्राधिकरण फ़ाइल जाँचें |url= मान (मदद), अभिगमन तिथि 27 अप्रैल 2014Wikidata Q36578
  2. http://data.bnf.fr/ark:/12148/cb11924970w; प्राप्त करने की तिथि: 10 अक्टूबर 2015.
  3. https://libris.kb.se/katalogisering/31fhk0mm554qh9x; स्वीडन राष्ट्रीय पुस्तकालय; प्राप्त करने की तिथि: 24 अगस्त 2018; प्रकाशन की तिथि: 11 नवम्बर 2009.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

[1][2][3]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 2 फ़रवरी 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2016.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जनवरी 2016.
  3. C. B. Ferster & B. F. Skinner, (1957) Schedules of Reinforcement