बैंक ऑफ़ अमेरिका कॉरपोरेशन ([2]) एक वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनी है, जो पूंजी (एसेट्स) के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका की सबसे बड़ी बैंक होल्डिंग कंपनी है और बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैपिटलाइजेशन) की दृष्टि से दूसरा सबसे बड़ा बैंक है। बैंक ऑफ़ अमेरिका 150 से अधिक देशों में अपने ग्राहकों को सेवाएं प्रदान कर रही है और इसका संबंध 99 प्रतिशत यू.एस. फॉर्चून 500 कंपनियों एवं 83 प्रतिशत फॉर्चून ग्लोबल 500 कंपनियों से है। यह कंपनी फ़ेडरल डिपोजिट इंश्योरेन्स कॉरपोरेशन (एफ़डीआईसी) की सदस्य है और एस&पी 500 इंडेक्स एवं डाऊ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज, दोनों का हिस्सा है।

बैंक ऑफ अमेरिका ANIl KUMAR KAMAT
प्रकार संयुक्त पूँजी कम्पनी Edit this on Wikidata
व्यापार करती है न्यूयॉर्क शेयर बाज़ार, टोक्यो स्टॉक एक्स्चेंज Edit this on Wikidata
उद्योग वित्तीय सेवा, बैंक Edit this on Wikidata
नियति सक्रिय
स्थापना 1923, 3 नवम्बर 1930 Edit this on Wikidata
संस्थापक लुआ त्रुटि Module:Wd में पंक्ति 2519 पर: The function "propertamircaies" does not exist।
उत्पाद बीमा, निवेश प्रबंधन Edit this on Wikidata
राजस्व 83,416,000,000 अमेरिकी डॉलर[1] Edit this on Wikidata
कुल संपत्ति 2,144,000,000,000 अमेरिकी डॉलर[1] Edit this on Wikidata
स्वामित्व बर्कशायर हाथवे[2] Edit this on Wikidata
कर्मचारी 204,000[3] Edit this on Wikidata
मातृ कंपनी none Edit this on Wikidata
वेबसाइट https://www.bankofamerica.com/ Edit this on Wikidata
बैंक ऑफ अमेरिका का कॉर्पोरेट केंद्र, शेर्लोट, नोर्थ केरोलिना के अपटाउन के बीच स्थित.

2008 में बैंक द्वारा मेरिल लिंच के अधिग्रहण ने बैंक ऑफ़ अमेरिका को दुनिया का सबसे बड़ा वित्त प्रबंधक (वेल्थ मैनेजर) और निवेश बैंकिंग उद्योग (इन्वेस्ट्मेंट बैंकिंग इंडस्ट्री) का एक प्रमुख खिलाड़ी बना दिया.

अगस्त 2009 तक, कंपनी के अधीन यू.एस. के समस्त निवेश का 12.2% हिस्सा मौजूद था और यह सिटीग्रुप, जेपी मॉर्गन एवं वेल्स फ़ारगो – जो इसके मुख्य प्रतिस्पर्धी हैं - के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका के चार प्रमुख बैंकों में से एक है।

व्यावसायिक इतिहास (कॉरपोरेट हिस्ट्री)संपादित करें

बैंक ऑफ़ इटलीसंपादित करें

चित्र:Bankofamericaporterranch.jpg
लॉस एंजिल्स में बैंक ऑफ अमेरिका का सामान्य लोकल ऑफिस

बैंक ऑफ़ अमेरिका का इतिहास 1904 से शुरु होता है, जब एमैडियो जियानिनी ने उन प्रवासियों को बैंकिंग सेवा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सैन फ़्रांसिस्को में बैंक ऑफ़ इटली की स्थापना की, जिन्हें दूसरे बैंक अपनी सेवा नहीं देते थे। एमैडियो के पिता को 10 डॉलर ($10.00) कर्ज की राशि जुटाने के प्रयास में गोली मार दी गयी थी। उसके बाद उनका पालन-पोषण फ़ावा/स्टैंगेलिनी परिवार द्वारा किया गया था। [38] 1906 में जब सैन फ़्रांसिस्को का भयंकर भूकंप आया, जियानिनी बैंक के भवन से समस्त जमा राशि बाहर निकाल लाने और इसे आग से बचाने में सफ़ल रहे. चूंकि सैन फ़्रांसिस्को के बैंक दहकते अवशेषों में बदलकर रह गये थे और वे अपने वॉल्ट्स को भी नहीं खोल पाये थे, जबकि जियानिनी ने इस विनाशलीला के कुछ ही दिनों के अंदर बची हुई राशि का उपयोग करते हुए इससे उधार देना शुरु कर दिया. दो बैरलों के ऊपर कुछ फट्टे (प्लैंक) लगाकर उन्होंने एक डेस्क बनाई और पुनर्निर्माण की इच्छा रखने वाले सभी लोगों को ऋण देना आरंभ कर दिया. बाद के वर्षों में उन्हें सदैव इस बात का गर्व रहा कि उनके सभी ऋणों को चुकता कर दिया गया है।

1922 में, जियानिनी ने 1918 में स्थापित बैंका डेल’इटालिया मेरिडियोनेल (Banca dell'Italia Meridionale), [40] को खरीदकर इटली में बैंक ऑफ़ अमेरिका और इटली[39] की स्थापना की.

7 मार्च 1927 को जियानिनी ने अपने बैंक ऑफ़ इटली (101 शाखाओं) को तत्कालीन नवनिर्मित लिबर्टी बैंक ऑफ़ अमेरिका (175 शाखाओं) के साथ मिला लिया। इसके परिणामस्वरूप बैंक ऑफ़ इटली नेशनल ट्रस्ट एंड सेविंग्स एसोसिएशन की स्थापना हुई जिसके पास $30,000,000 की पूंजी और $115,000,000 के संसाधन मौजूद थे।

1928 में, ए.पी. जियानिनी ने बैंक ऑफ़ अमेरिका लॉस एंजिल्स के साथ विलय कर लिया और अपनी अन्य बैंकों की होल्डिंग्स को इसमें शामिल कर इसे देश की सबसे बड़ी बैंकिंग संस्था बना दिया. 3 नवम्बर 1930 को उन्होंने अपने बैंक ऑफ़ इटली का नाम बदलकर उसे नया नाम दिया, बैंक ऑफ़ अमेरिका. विलय का काम 1929 के आरंभ में [43] पूरा हुआ और तब इसे विधिवत बैंक ऑफ़ अमेरिका का नाम मिल गया। इस संयुक्त कंपनी का नेतृत्व जियानिनी ने किया जबकि मॉनेट ने सह-अध्यक्ष के रूप में अपना योगदान दिया.

कैलिफ़ोर्निया में प्रगतिसंपादित करें

जियानिनी अपनी होल्डिंग कंपनी ट्रांसअमेरिका कॉरपोरेशन के अंतर्गत पश्चिमी राज्यों के साथ-साथ बीमा उद्योग में इसका विस्तार करके इसे एक राष्ट्रीय बैंक बनाना चाहते थे। 1953 में, रेगुलेटरों ने क्लेयटन एंटीट्रस्ट एक्ट के अंतर्गत ट्रांसअमेरिका कॉरपोरेशन और बैंक ऑफ़ अमेरिका को बलपूर्वक अलग-अलग करने के प्रयासों में सफ़लता पायी. 1956 में बैंक होल्डिंग कंपनी एक्ट के पास होने पर बैंकों को बीमा कंपनियों जैसी गैर-बैंकिंग सब्सिडियरीज (सहायक कंपनियों) का स्वामित्व प्राप्त करने से रोक दिया गया। बैंक ऑफ़ अमेरिका और ट्रांसअमेरिका कॉरपोरेशन अलग-अलग हो गये और ट्रांसअमेरिका कॉरपोरेशन ने बीमा व्यवसाय को अपना लिया। हालांकि, फ़ेडरल बैंकिंग रेगुलेटरों ने बैंक ऑफ़ अमेरिका की अंतरराज्यीय बैंकिंग गतिविधियों को रोक दिया और कैलिफ़ोर्निया से बाहर बैंक ऑफ़ अमेरिका के घरेलू बैंकों को एक अलग कंपनी बनाने पर मज़बूर कर दिया जो बाद में फ़र्स्ट इंटरस्टेट बैनकॉर्प बना, जिसका अधिग्रहण 1996 में वेल्स फ़ारगो एंड कंपनी ने किया। ऐसा तब तक रहा जब तक कि 1980 के दशक में फ़ेडरल बैंकिंग कानून और अधिनियम में यह बदलाव नहीं हुआ कि बैंक ऑफ़ अमेरिका फ़िर से कैलिफ़ोर्निया के बाहर अपनी घरेलू उपभोक्ता बैंकिंग गतिविधियों का विस्तार कर सकता है।

नयी तकनीकों द्वारा क्रेडिट कार्डों को व्यक्तिगत बैंक खातों से लिंक करना भी संभव हो गया। 1958 में, बैंक ने बैंकअमेरिकार्ड को पेश किया जिसने 1975 में अपना नाम बदलकर वीजा रख लिया। कैलिफ़ोर्निया के अन्य बैंकों के एक संघ ने बैंकअमेरिकार्ड का मुकाबला करने के लिये मास्टर चार्ज (अब मास्टरकार्ड) को पेश किया।

कैलिफ़ोर्निया के बाहर विस्तारसंपादित करें

1967 के बैंक होल्डिंग कंपनी एक्ट के पास होने के बाद, बैंक ऑफ़ अमेरिका और इसकी सहायक कंपनियों का स्वामित्व प्राप्त करने के उद्देश्य से बैंकअमेरिका कॉरपोरेशन की स्थापना की गयी।

बैंकअमेरिका ने 1983 में सिएटल, वाशिंगटन के सीफ़र्स्ट कॉरपोरेशन और इसके संपूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, सिएटल-फ़र्स्ट नेशनल बैंक का अधिग्रहण करते हुए कैलिफ़ोर्निया के बाहर अपना विस्तार किया। सीफ़र्स्ट तेल उद्योग को दिये गये ऋणों के चुकता नहीं किये जाने के कारण दिवालिया होने के बाद फ़ेडरल गवर्नमेंट द्वारा नीलामी के कगार पर आ पहुँची थी। बैंकअमेरिका, बैंक ऑफ़ अमेरिका के बजाय अपनी इस नयी सहायक कंपनी को सीफ़र्स्ट के रूप में संचालित करती रही, जबतक कि 1998 में नेशन्सबैंक के साथ इसका विलय नहीं हो गया।

बैंकअमेरिका को तीसरी दुनिया के देशों, विशेषकर लैटिन अमेरिका में दिये गये बुरे ऋणों की भरपाई के कारण 1986 और 1987 में भारी नुकसान उठाना पड़ा. कंपनी ने अपने सीईओ, सैम आर्माकोस्ट को निकाल दिया. हालांकि, आर्माकोस्ट ने इन समस्याओं का दोषारोपण अपने पूर्व अधिकारी, ए.डब्ल्यु.(टॉम) क्लॉसन पर किया, लेकिन क्लॉसन को आर्माकोस्ट की जगह नियुक्त कर दिया गया। इन नुकसानों से बैंकअमेरिका के स्टॉक में भारी गिरावट आ गयी, जिसके कारण इसकी स्थिति इतनी कमजोर हो गयी कि इसका होस्टाइल टेकओवर (बलपूर्वक अधिग्रहण) किया जाना भी संभव हो गया। लॉस एंजिल्स के फ़र्स्ट इंटरस्टेट बैनकॉर्प (जिसकी स्थापना कभी बैंकअमेरिका के स्वामित्व वाले बैंकों से हुई थी) ने 1986 के पतझड़ के मौसम में इस आशय की एक बोली लगायी, हालांकि बैंकअमेरिका ने अधिकांशतः अपने ऑपरेशंस को बेचते हुए इसे संभव नहीं होने दिया. इसने अपनी सहायक कंपनी फ़ाइनांस अमेरिका को क्रिसलर के हाथों और ब्रोकरेज कंपनी चार्ल्स श्वैब एंड कंपनी को वापस मिस्टर श्वैब के हाथों बेच दिया. इसने बैंक ऑफ़ अमेरिका और इटली को भी डोयशे बैंक के पास बेच दिया. 1987 में स्टॉक मार्केट के क्रैश होने तक, बैंकअमेरिका का शेयर मूल्य गिरकर आठ डॉलर ($8) तक पहुँच गया था, लेकिन 1992 तक यह पूरी शान से वापस लौटकर उस अर्ध-दशक के सबसे बड़े लाभार्थियों मे से एक बन गया।

 
न्यूयॉर्क सिटी में बैंक ऑफ अमेरिका का टॉवर.

बैंक अमेरिका का दूसरा बड़ा अधिग्रहण 1992 में किया गया। कंपनी ने कैलिफ़ोर्निया के अपने प्रतिस्पर्धी, सिक्योरिटी पैसिफ़िक कॉरपोरेशन एवं इसकी सहायक कंपनी सिक्योरिटी पैसिफ़िक नेशनल बैंक को कैलिफ़ोर्निया में और एरिजोना, इडाहो, ओरिगोन, एवं वाशिंगटन में अन्य बैंकों (जिन्हें सिक्योरिटी पैसिफ़िक ने 1980 के दशक के उत्तरार्ध में श्रृंखलाबद्ध तरीके से अधिग्रहित किया था) का अधिग्रहण किया। यह उस समय तक का इतिहास का सबसे बड़ा बैंक अधिग्रहण था। हालांकि, फ़ेडरल रेगुलेटरों ने सिक्योरिटी पैसिफ़िक की वाशिंगटन सबसीडियरी पूर्व के रेनियर बैंक के तकरीबन आधे हिस्से को बलपूर्वक बिकवा दिया, क्योंकि सीफ़र्स्ट और सिक्योरिटी पैसिफ़िक वाशिंगटन के साथ मिलने से बैंकअमेरिका को उस राज्य के मार्केट का एक बहुत बड़ा हिस्सा प्राप्त हो जाने का खतरा था। वाशिंगटन की शाखाओं को बाँट दिया गया और इन्हें वेस्ट वन बैनकॉर्प (अब यूएस बैनकॉर्प) और कीबैंक के हाथों बेच दिया गया। उसी वर्ष बाद में, बैंक अमेरिका ने वैली बैंक ऑफ नेवादा का अधिग्रहण करते हुए नेवादा में अपना विस्तार किया।

1994 में, बैंकअमेरिका ने शिकागो की कांटिनेन्टल इलिनोइस नेशनल बैंक और ट्रस्ट कंपनी का अधिग्रहण किया, जो ओकलाहोमा सिटी के पेन स्क्वायर बैंक, जिसने सीफ़र्स्ट सहित अनगिनत वित्तीय संस्थानों को धराशायी कर दिया था, से उत्पन्न तेल उद्योग के उसी विध्वंश के एक हिस्से के रूप में संघीय सरकार के स्वामित्व वाली कंपनी बन गयी थी।

एक समय, कॉन्टिनेंटल की डूबती नैया को बचाने का तरीका किसी भी बैंक के पास नहीं था, इसीलिये संघीय सरकार ने स्वयं इस बैंक को तकरीबन एक दशक तक संचालित किया। उस समय इलिनोइस ने शाखा बैंकिंग को अत्यंत गहराई से नियंत्रित किया, इसीलिये बैंक ऑफ़ अमेरिका इलिनोइस 21वीं सदी तक एक सिंगल-यूनिट बैंक ही बना रहा. बैंकअमेरिका अपने राष्ट्रीय ऋण विभाग को शिकागो ले गयी ताकि उस क्षेत्र में वित्तीय उपस्थिति को स्थापित किया जा सके. 

इन विलयों ने बैंकअमेरिका कॉरपोरेशन को जमा राशियों की दृष्टि से एक बार फ़िर सबसे बड़ी यू.एस. बैंक होल्डिंग कंपनी बनने में मदद की, लेकिन यह कंपनी 1997 में तेजी से उभरते नेशंसबैंक कॉरपोरेशन के बाद दूसरे नंबर पर आ गयी और 1998 में यह नॉर्थ कैरोलिना के फ़र्स्ट यूनियन कॉर्प से पिछड़कर तीसरे नंबर पर जा पहुँची.

पूँजी बाजार के फ़िसलने पर, कॉन्टिनेंटल इलिनोइस के अधिग्रहण ने बैंकअमेरिका को एक लीवरेज्ड फ़ाइनांस ओरिजिनेशन एंड डिस्ट्रिब्युशन बिजनेस विकसित करने में मदद की (कॉन्टिनेंटल इलिनोइस के पास विस्तृत लीवरेज्ड लेंडिंग रिलेशनशिप्स मौजूद थे) जिसने इस फ़र्म के मौजूदा ब्रोकर-डीलर, बैंक अमेरिका सिक्योरिटीज (मूल नाम बीए सिक्योरिटीज) को संपूर्ण सेवाओं की फ़्रेंचाइजी बनने की अनुमति दी. इसके अतिरिक्त, 1997 में बैंकअमेरिका ने $540 मिलियन डॉलर में उच्च तकनीक में विशेषज्ञता प्राप्त सैन फ़्रांसिसको-आधारित इन्वेस्ट्मेंट बैंक रॉबर्टसन स्टीफंस का अधिग्रहण किया। रॉबर्टसन स्टीफंस को बैंक अमेरिका सिक्योरिटीज में एकीकृत कर लिया गया और इस संयुक्त सबसीडियरी का नाम बैंकअमेरिका रॉबर्टसन स्टीफंस रखा गया।

नेशन्सबैंक और बैंकअमेरिका का विलयसंपादित करें

चित्र:NationsBank logo.png
पूर्व के नेशंसबैंक कॉर्प का लोगो जो बैंक ऑफ अमेरिका के वर्तमान लोगो के समान है
 
पूर्व बैंकअमेरिका का लोगो जिसे बैंकअमेरिका की एक शाखा पर देखा गया।

1997 में, बैंकअमेरिका ने डी.ई. शॉ एंड कंपनी को एक विशाल हेज फ़ंड, $1.4 बिलियन की राशि इस आशय के साथ दी कि इस हेज फ़ंड से बैंक के विभिन्न व्यवसायों को संचालित किया जायेगा. हालांकि, 1998 के रशिया बांड डिफॉल्ट के बाद डी.ई. शॉ को भारी नुकसान उठाना पड़ा. अक्टूबर 1998 में नेशन्सबैंक द्वारा बैंकअमेरिका का अधिग्रहण कर लिया गया।

नेशन्सबैंक कॉरपोरेशन द्वारा बैंकअमेरिका कॉर्प. को खरीदा जाना उस समय इतिहास का सबसे बड़ा बैंक अधिग्रहण था। हालांकि यह डील तकनीकी रूप से नेशन्सबैंक द्वारा बैंकअमेरिका कॉरपोरेशन की खरीद के लिये थी, लेकिन इसे नेशन्सबैंक के साथ विलय के रूप में अंजाम दिया गया और इसका नाम बदलकर बैंक ऑफ अमेरिका कॉरपोरेशन रखा गया और बैंक ऑफ अमेरिका एनटीएंडएसए ने अपने नाम को बदलकर बैंक ऑफ अमेरिका, एन.ए. रख लिया जो इसकी शेष कानूनी बैंक इकाई थी। यह बैंक आज भी फ़ेडरल चार्टर 13044 के अंतर्गत कार्यरत है, जिसे 1 मार्च 1927 को जियानिनी के बैंक ऑफ इटली को प्रदान किया गया था। हालांकि, 1998 से पहले की एसईसी फ़ाइलिंग में इसे नेशन्सबैंक के अंतर्गत दिखाया गया है, ना कि बैंकअमेरिका के अंतर्गत.

नेशन्सबैंक द्वारा बैंकअमेरिका के यूएस$64.8 बिलियन के अधिग्रहण के बाद बने बैंक ऑफ अमेरिका के पास यूएस$570 बिलियन की संयुक्त पूँजी के साथ-साथ 22 प्रांतों में इसकी 4800 शाखाएं थीं। अत्यंत बड़े आकार की दो कंपनियों के बावजूद, फ़ेडरल रेगुलेटरों ने न्यू मेक्सिको के उन शहरों में केवल 13 शाखाओं को हटाने पर जोर दिया, जहाँ इस विलय के बाद केवल मात्र एक बैंक बचता था। ऐसा इसीलिये किया गया क्योंकि शाखा के डाइवेस्टीचर की आवश्यकता केवल तभी पड़ती है जब संयुक्त कंपनी के पास किसी विशेष प्रांत में 25 प्रतिशत से अधिक एफ़डीआईसी डिपोजिट मार्केट शेयर या कुल मिलाकर 10 प्रतिशत डिपोजिट मार्केट शेयर हो. इसके अतिरिक्त, बैंकअमेरिका रॉबर्टसन स्टीफ़न्स और नेशन्सबैंक मोंटगोमेरी सिक्योरिटीज के एकीकरण से तैयार, संयुक्त ब्रोकर-डीलर, को 1998 में बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज का नाम दिया गया।

2001 से इतिहाससंपादित करें

2001 में, बैंक ऑफ अमेरिका के सीईओ एवं चेयरमैन ह्यू मैककॉल ने अपना पद छोड़ दिया और केन लेविस को अपना उत्तराधिकारी नामित कर दिया.

2004 में, बैंक ऑफ अमेरिका ने घोषणा की कि वह बोस्टन स्थित बैंक फ़्लीट बोस्टन फ़ाइनांशियल को $47 बिलियन में नगद और स्टॉक के जरिये खरीदेगी. बैंक ऑफ अमेरिका के साथ विलय के बाद, इसके सभी बैंकों और शाखाओं को बैंक ऑफ अमेरिका का लोगो दिया गया। विलय के समय, फ़्लीट बोस्टन $197 बिलियन की पूँजी, 20 मिलियन से अधिक ग्राहकों और $12 बिलियन के राजस्व के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका का सातवाँ सबसे बड़ा बैंक था। बोस्टन ग्लोब के अनुसार फ़्लीटबोस्टन के सैकड़ों कर्मचारियों ने अपने रोजगार खो दिये या उन्हें डिमोट कर दिया गया।


30 जून 2005 को बैंक ऑफ अमेरिका ने घोषणा की कि वह क्रेडिट कार्ड क्षेत्र की विशाल कंपनी एमबीएनए को $35 बिलियन में नगद और स्टॉक के जरिये खरीदेगी. फ़ेडरल रिजर्व बोर्ड ने 15 दिसम्बर 2005 को इस विलय को अंतिम रूप से मंजूरी दी और विलय की प्रक्रिया 1 जनवरी 2006 को पूरी हुई. एमबीएनए के अधिग्रहण ने बैंक ऑफ अमेरिका को अपने घर में और विदेशों में एक अग्रणी क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता का विकल्प दे दिया. पूर्व एमबीएनए सहित संयुक्त बैंक ऑफ अमेरिका कार्ड सर्विसेस संस्थान के पास 40 मिलियन से अधिक यू.एस. खाते और तकरीबन $140 बिलियन के आउटस्टैंडिंग बैलेसेस थे। बैंक ऑफ अमेरिका के अंतर्गत इस ऑपरेशन को एफ़आईए कार्ड सर्विसेस का नया नाम दिया गया।

 
बैंक ऑफ अमेरिका के फुटप्रिंट

मई 2006 में, बैंक ऑफ अमेरिका और बैंकौ इटाउ (इनवेस्टीमेंटोस इटाउ एस.ए.) (Banco Itaú (Investimentos Itaú S.A.) ने मिलकर एक अधिग्रहण संबंधी समझौता किया जिसके जरिये इटाउ ब्राज़ील में बैंकबोस्टन के ऑपरेशन का अधिग्रहण करने को राजी हुई और इसे चिली एवं उरुग्वे में बैंक ऑफ अमेरिका के ऑपरेशंस को खरीदने का एक विशेषाधिकार प्रदान किया। अगस्त 2006 में एक डील साइन किया गया जिसके अंतर्गत इटाउ चिली एवं उरुग्वे में बैंक ऑफ अमेरिका के ऑपरेशंस को खरीदने के लिये राजी हुई. इस लेन-देन के पहले, बैंकबोस्टन के ब्राज़ीलियन ऑपरेशंस में वित्त प्रबंधन, प्राइवेट बैंकिंग, एक क्रेडिट कार्ड पोर्ट्फ़ोलियो और छोटा, मध्यम-बाज़ार और विशाल कॉरपोरेट सेगमेंट को शामिल किया गया। इसके पास ब्राज़ील में 66 शाखाएं और 203,000 क्लाइंट थे। चिली में बैंकबोस्टन के पास 44 शाखाएं और 58,000 क्लाइंट थे जबकि उरुग्वे में इसके पास 15 शाखाएं थीं। इसके अतिरिक्त, उरुग्वे में एक क्रेडिट कार्ड कंपनी, ओसीए भी थी, जिसके पास 23 शाखाएं थीं। उरुग्वे में बैंकबोस्टन एन.ए. ने ओसीए के साथ मिलकर संयुक्त रूप से 372,000 क्लाइंटों को अपनी सेवा दी. क्योंकि बैंकबोस्टन के नाम और ट्रेदमार्क इस लेन-देन का हिस्सा नहीं थे, विक्रय समझौते के एक हिस्से के रूप में, इस लेन-देन के बाद बैंक ऑफ अमेरिका द्वारा बाज़ील, चिली या उरुग्वे में इनका उपयोग नहीं किया जा सकता था। इस प्रकार, बैंकबोस्टन का नाम बाज़ील, चिली और उरुग्वे से गायब हो गया। बैंक ऑफ अमेरिका द्वारा इस लेन-देन से प्राप्त इटाउ के स्टॉक ने इटाउ में बैंक ऑफ अमेरिका के स्टेक को 11.51% तक पहुँचा दिया. बैंका डि बोस्टन डि ब्राज़ील की स्थापना 1947 में की गयी।

20 नवम्बर 2006 को बैंक ऑफ अमेरिका ने द युनाइटेड स्टेट्स ट्रस्ट कंपनी को, चार्ल्स श्वाब कॉरपोरेशन से $3.3 बिलियन में खरीदने की घोषणा की. यूएस ट्रस्ट के पास प्रबंधन के अंतर्गत तकरीबन $100 बिलियन की पूँजी और 150 वर्षों का अनुभव था। यह डील 1 जुलाई 2007 को पूरी हुई.

14 सितंबर 2007 को बैंक ऑफ अमेरिका ने $21 बिलियन में नीदरलैंड के एबीएन एमरो बैंक से लासैले बैंक कॉरपोरेशन के अधिग्रहण की फ़ेडरल रिजर्व से स्वीकृति प्राप्त कर ली. इस विलय के बाद बैंक ऑफ अमेरिका के पास 1.7 ट्रिलियन की पूँजी जमा हो गई।

एक डप कोर्ट ने इस बिक्री पर रोक लगा दी जबतक कि बाद में जुलाई में इसकी स्वीकृति नहीं मिल गयी। यह अधिग्रहण 1 अक्टूबर 2007 को पूरा हुआ। 

इस डील ने इलिनोइस, मिशिगन और इंडियाना में बैंक ऑफ अमेरिका की उपस्थिति को बढ़ाकर 411 शाखाओं, 17,000 कारोबारी बैंक ग्राहकों, 1.4 मिलियन खुदरा ग्राहकों और 1,500 एटीएम कर दी. 197 कार्यालयों और 14% डिपोजिट शेयर के साथ बैंक ऑफ अमेरिका शिकागो के बाज़ार में सबसे बड़ा बैंक बन गयी और जेपी मॉर्गन चेज से आगे निकल गयी।

लासैले बैंक और लासैले बैंक मिडवेस्ट की शाखाओं ने 5 मई 2008 को बैंक ऑफ अमेरिका के नाम को अपना लिया।

31 दिसम्बर 2009 को कुछ विवादों और कुछ मेरिल लिंच की खरीद संबंधी कानूनी जाँच के कारण केन लेविस ने इस्तीफ़ा दे दिया और 1, 2010 से ब्रायन मोइनिहन इसके प्रेसिडेंट और सीईओ बन गये। ब्रायन मोइनिहन के नियंत्रण में आने की अटकलों के बाद, जनवरी में क्रेडिट कार्ड चार्ज ऑफ और अपराधों में गिरावट आयी। बैंक ऑफ अमेरिका ने US$45 बिलियन की उस राशि का भुगतान भी कर दिया जो उसने ट्रबल्ड एसेट्स रिलीफ़ प्रोग्राम के तहत प्राप्त हुई थी।

कंट्रीवाइड फ़ाइनांशियल का अधिग्रहणसंपादित करें

23 अगस्त 2007 को कंपनी ने कंट्रीवाइड फ़ाइनांशियल के लिये $2 की पुन:खरीद की घोषणा की. पसंदीदा स्टॉक की इस खरीद की व्यवस्था निवेश पर 7.25% प्रतिवर्ष की वापसी के आधार पर की गयी थी और $18 प्रति शेयर के मूल्य पर सामान्य स्टॉक की खरीदारी का विकल्प दिया गया था।


11 जनवरी 2008 को बैंक ऑफ अमेरिका ने घोषणा की कि वे कंट्रीवाइड फ़ाइनांशियल को $4.1 बिलियन में खरीदेंगे. मार्च 2008 में, यह जानकारी मिली कि होम लोन्स और मॉर्गेजेज संबंधी धोखाधड़ी की संभावनाओं के कारण एफ़बीआई कंट्रीवाइड की जाँच कर रही है। इस ख़बर ने अधिग्रहण को नहीं रोका, जो जुलाई 2008 में बैंक को मॉर्गेज का एक उपयुक्त मार्केट शेयर देकर और मॉर्गेजेज की सर्विसिंग के लिये कंट्रीवाइड के संसाधनों तक पहुँच प्रदान करते हुए पूरा हो गया। इस अधिग्रहण को कंट्रीवाइड के एक संभावित दिवालियेपन को रोकने के प्रयासों के रूप में देखा गया। हालांकि, कंट्रीवाइड ने इस बात से इंकार किया कि यह दिवालिया होने के कगार पर आ पहुँची थी। कंट्रीवाइड ने 31 दिसम्बर 2007 तक 1.4 ट्रिलियन मूल्य[74] के नौ मिलियन मॉर्गेजेज के लिये मॉर्गेज सर्विसिंग की अनुमति प्रदान की थी।

इस खरीद ने बैंक ऑफ अमेरिका को यूएसए की अग्रणी मॉर्गेज ओरिजिनेटर और सर्विसर बना दिया, जिसके पास होम लोन मार्केट के 20-25% का नियंत्रण था। इस डील को कंट्रीवाइड के साथ रेड ओक मर्जर कॉरपोरेशन के विलय के लिये तैयार किया गया था, जिसे बैंक ऑफ अमेरिका ने एक स्वतंत्र सबसीडियरी बनाया था। ऐसा कहा जाता है कि डील को इस प्रकार तैयार किया गया था जिससे कंट्रीवाइड में हुए भारी नुकसानों से उत्पन्न एक संभावित दिवालियेपन को रोका जा सके जो कंट्रीवाइड बैंकरप्सी रिमोट को अपने हाथ में रखते हुए इसकी जन्मदात्री संस्था को नुकसान पहुँचा रही थी। कंट्रीवाइड फ़ाइनांशियल ने अपना नाम बदलकर बैंक ऑफ अमेरिका होम लोन्स रख लिया।

मेरिल लिंच का अधिग्रहणसंपादित करें

15 सितंबर 2008 को बैंक ऑफ अमेरिका ने मेरिल लिंच एंड कंपनी आईएनसी. को तकरीबन $50 बिलियन मूल्य के संपूर्ण स्टॉक डील में खरीदने की अपनी मंशा की घोषणा की. मेरिल लिंच उस समय धराशायी होने की स्थिति में आ गयी थी और इस अधिग्रहण ने मेरिल को दिवालिया होने से पूरी तरह बचा लिया। उसी दौरान यह सूचना मिली कि बैंक ऑफ अमेरिका लीमैन ब्रदर्स को खरीदने के लिये बात कर रही है, हालांकि सरकारी गारंटी नहीं होने के कारण बैंक को लीमैन के साथ बातचीत आगे बढ़ाने का विचार त्याग देना पड़ा. लीमैन ब्रदर्स ने उसी दिन दिवालिया होने की अर्जी दे दी जब बैंक ऑफ अमेरिका ने मेरिल लिंच के अधिग्रहण की योजना की घोषणा की. इस अधिग्रहण ने बैंक ऑफ अमेरिका को दुनिया की सबसे बड़ी वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी बना दिया. मेरिल लिंच एंड कंपनी आईएनसी. के सबसे बड़े शेयरधारक, टेमासेक होल्डिंग्स, 3% की हिस्सेदारी के साथ बैंक ऑफ अमेरिका के सबसे बड़े शेयरधारकों,[87], में शामिल हो गयी। हालांकि, राउटर के अनुमान के अनुसार $3 बिलियन का नुकसान उठाते हुए, सिंगापुर सोवरेन वेल्थ फ़ंड ने 2009 की पहली तिमाही में बैंक ऑफ अमेरिका में अपनी संपूर्ण हिस्सेदारी बेच दी.


दोनों कंपनियों के शेयरधारकों ने इस अधिग्रहण के लिये 5 दिसम्बर 2008 को अपनी मंजूरी दे दी और यह डील 1 जनवरी 2009 को पूरी हो गयी। बैंक ऑफ अमेरिका ने विलय के बाद थाइन की प्रबंधन टीम के कई सदस्यों को अपने साथ रखने की योजना बनायी थी। हालांकि, जब थाइन को उनके पद से हटाया गया, उनके अधिकांश साथियों ने कंपनी छोड़ दी. नेल्शन चाई, जिन्हें एशिया-पैसिफ़िक प्रेसिडेंट का नाम दिया गया था, के जाने के बाद, थाइन द्वारा नियुक्त अधिकारियों में से केवल एक, टॉम मोंटाग सेल्स एंड ट्रेडिंग के प्रमुख के रूप में कंपनी के साथ बने रहे.

बैंक ने, अपनी 16 जनवरी 2009 को की गयी आय संबंधी घोषणा में, चौथी तिमाही में मेरिल लिंच में हुए भारी नुकसान का खुलासा किया, जिसने सरकार के साथ पूर्व में हुए एक समझौते के तहत,[96] मेरिल के अधिग्रहण के लिये बैंक के साथ सरकारी-सहमति प्राप्त डील के हिस्से के रूप में धन डालने की आवश्यकता पैदा कर दी. मेरिल ने इस तिमाही में, टॉम मोंटाग के नेतृत्व में मुख्य रूप से अपने सेल्स और ट्रेडिंग ऑपरेशंस में, $21.5 बिलियन के ऑपरेटिंग नुकसान की सूचना दी. बैंक ने यह भी खुलासा किया कि मेरिल का ट्रेडिंग संबंधी नुकसान सतही स्तर तक पहुँच जाने के बाद, इसने दिसंबर में डील को तोड़ देने की कोशिश की थी, लेकिन तब यू.एस. सरकार द्वारा विलय की प्रक्रिया को पूरा करने को बाध्य किया था। आमदनी की घोषणा और मेरिल की दुर्घटना के बाद बैंक का स्टॉक मूल्य गिरकर $7.18 तक पहुँच गया था, जो पिछले 17 वर्षों में इसका न्यूनतम मूल्य था। मेरिल लिंच सहित बैंक ऑफ अमेरिका की बाज़ार पूँजी उस समय $45 बिलियन थी, जो सिर्फ़ चार महीने पहले मेरिल के लिये प्रस्तावित $50 बिलियन से कम था और विलय की घोषणा के समय से यह $108 बिलियन कम था।

बैंक ऑफ अमेरिका के सीईओ केनेथ लेविस ने कांग्रेस[97] के सामने यह स्वीकार किया कि उन्हें मेरिल लिंच के अधिग्रहण के बारे में कुछ गलत जानकारियाँ दी गयीं थीं और यह कि फ़ेडरल अधिकारियों ने इस डील को पूरा करने या अपनी नौकरी से हाथ धोने और फ़ेडरल रेगुलेटरों के साथ बैंक के संबंधों को खतरे में डालने की बात कहकर उन्हें इसके लिये मना लिया था।

लेविस के कथन का समर्थन संसदीय निगरानी समिति में मौजूद रिपब्लिकन विधिनिर्माताओं द्वारा जारी अंदरूनी ई-मेलों से भी होता है। इनमें से एक ई-मेल में, रिचमौंड फ़ेडरल रिजर्व के प्रेसिडेंट जैफ़री लैकर ने यह कहकर धमकी दी थी कि अगर अधिग्रहण की प्रक्रिया को आगे नहीं बढ़ाया गया और बाद में बैंक ऑफ अमेरिका को मजबूर होकर फ़ेडरल सहयोग के लिये निवेदन करना पड़ा, तो बैंक ऑफ अमेरिका का प्रबंधन “समाप्त” हो जायेगा. अन्य ई-मेलों में, जिसे लेविस की गवाही के दौरान कांग्रेसी सांसद डेनिस क्युसिनिक द्वारा पढ़ा गया, में कहा गया था कि मिस्टर लेविस ने अपने शेयरधारकों की इसके प्रति नाराजगी को पहले ही भांप लिया था कि मेरिल की खरीद पर सवाल उठाये जाएंगे और उन्होंने सरकारी रेगुलेटरों से एक पत्र यह कहते हुए जारी करने को कहा था कि सरकार ने उन्हें मेरिल लिंच के अधिग्रहण की इस डील को पोरा करने का आदेश दिया था। लेविस ने अपनी तरफ़ से कहा था कि उन्हें ऐसे किसी निवेदन वाले पत्र की बात याद नहीं है।

इस अधिग्रहण ने बैंक ऑफ अमेरिका को वैश्विक उच्च-आय संबंधी ऋण की नंबर एक बीमा कंपनी, ग्लोबल इक्विटी का तीसरी सबसे बड़ी बीमाकर्ता और वैश्विक विलय और अधिग्रहण की नवीं बड़ी सलाहकार कंपनी बना दिया. इस ऋण संकट के टलते ही, मेरिल लिंच का नुकसान कम हो गया और इस सबसीडियरी ने 2009 की पहली तिमाही के अंत में बैंक ऑफ अमेरिका के 4.2 बिलियन लाभ में 3.7 बिलियन की भागेदारी की और 2009 की तीसरी तिमाही में 25 प्रतिशत का लाभ अर्जित किया।

बोनस का निपटारासंपादित करें

3 अगस्त 2009 को बैंक ऑफ अमेरिका ने मेरिल में $5.8 बिलियन तक के बोनस का भुगतान करने के एक समझौते का खुलासा नहीं किये जाने पर, यू.एस. सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (एसईसी) को, किसी प्रकार का शुल्क लगाए बगैर या लगाने से मना किये बगैर, $33 मिलियन के जुर्माने का भुगतान करने की सहमति दी. बैंक ने विलय से पहले ही इन बोनसों को मंजूरी दे दी थी लेकिन अपने शेयरधारकों के सामने इसका खुलासा नहीं किया था, जबकि शेयरधारक मेरिल के अधिग्रहण को दिसंबर 2008 में मंजूरी देने की सोच रहे थे। इस मामले की जाँच मूलत: न्यूयॉर्क स्टेट अटॉर्नी जनरल एंड्र्यु क्युमो द्वारा की गयी थी, जिन्होंने वाद दायर करने के बाद यह टिप्पणि और सेटल्मेंट के बारे में यह घोषणा की “बोनसों के साथ-साथ इसके संदर्भ में किये गये खुलासों की टाइमिंग ने, ’व्यासायिक गैर-जिम्मेदारी का एक आश्चर्यजनक उदाहरण’” पेश किया है और “न्यूयॉर्क के मार्टिन एक्ट के संदर्भ में इन मामलों और इसके साथ-साथ अन्य मामलों की हमारी जाँच आगे न्ही जारी रहेगी.” कांग्रेसी प्रतिनिधि क्युसिनिच ने उसी दौरान कहा कि “बैंक ऑफ अमेरिका ने जिस प्रकार मेरिल लिंच के साथ अपने विलय की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया, संभवतः यह उसके द्वारा भरा जानेवाला आखिरी जुर्माना नहीं हो सकता है।” एक फ़ेडरल न्यायाधीश, ज़ेड राकौफ़ ने, एक असामान्य कदम उठाते हुए, 5 अगस्त को इस सेटल्मेंट को स्वीकृति देने से मना कर दिया. 10 अगस्त को न्यायाधीश के सामने हुई पहली सुनवाई में माहौल कई बार गरमाया और वे बोनसों के “तीव विरोधी” थे। डेविड रोजेन्फ़ेल्ड ने एसईसी का प्रतिनिधित्व किया और आर्थर एल. लीमैन के पुत्र, लेविस जे. लीमैन ने बैंक का प्रतिनिधित्व किया। भुगतान किये गये बोनसों की वास्तविक राशि $3.6 बिलियन थी, जिसमें सी $850 मिलियन की “गारंटी” दे गयी थी और शेष राशि को 39,000 कर्मचारियों में बाँट दी गयी, जिन्होंने $91,000 का औसत भुगतान प्राप्त किया; 696 लोगों ने बोनसों के रूप में $1 मिलियन की राशि प्राप्त की; कम से कम एक व्यक्ति ने $33 मिलियन से अधिक का बोनस प्राप्त किया।

14 सितंबर को, न्यायाधीश ने इस निपटारे को निरस्त कर दिया और पार्टियों से कहा कि वे 1 फ़रवरी 2010 से शुरू होने वाले ट्रायल के लिये तैयार रहें. “न्यायाधीश ने अपनी अधिकांश आलोचना को इस तथ्य पर केंद्रित रखा कि इस मामले में बैंक के शेयरधारकों को जुर्माना भरना होगा, जो उनमें से एक थे जिन्हें खुलासे की जानकारी नहीं होने के कारण नुकसान उठाना पड़ सकता था। तत्कालीन प्रबंधन के लिये इसका आशय कुछ और था, जिसपर अपने शेयरधारकों से झूठ बोलने का आरोप था, जिन्हें यह निर्धारित करना था कि उन पीड़ितों की कितनी राशि का उपयोग प्रबंधन के विरुद्ध चल रहे मामले को ख़त्म करने में किया जाये, ’न्यायाधीश ने लिखा... यह प्रस्तावित समझौता, न्यायाधीश ने आगे लिखा, ’पार्टियों के बीच एक कहीं अधिक स्वार्थी संबंध की ओर इशारा करता है: एस.ई.सी. यह दावा करती है कि यह एक हाई-प्रोफ़ाइल विलय में बैंक ऑफ अमेरिका की ओर से की गयी अनियमितताओं का खुलासा कर रही है; बैंक का प्रबंधन यह दावा करता है कि उन्हें अत्यंत ईर्ष्यालु रेगुलेटरों द्वारा जबरदस्ती एक असहज समझौते की ओर धकेला जा रहा है। और यह सब कुछ ना केवल शेयरधारकों, बल्कि सच्चाई की कीमत पर किया जा रहा है।’”[4]

अंतत: 10 फ़रवरी 2010 को एसईसी के पक्ष में जाते हुए, न्यायाधीश राकौफ़ ने $150 मिलियन के जुर्माने के साथ एक संशोधित समझौते को स्वीकृति दी, समझौते को “अनिच्छापूर्वक” “अपनी तरफ़ से किया गया आधा-अधूरा न्याय” और “अपर्याप्त एवं पथभ्रष्ट” कहा गया। सितंबर में अपने द्वारा उठाये गये मुद्दों में से एक पर उन्होंने कहा, जुर्माने की राशि “केवल बैंक ऑफ अमेरिका के उन शेयरधारकों के बीच, जिन्हें खुलासों की जानकारी नहीं होने के कारण नुकसान उठाना पड़ा, या ’लीगेसी शेयरधारकों के बीच, बाँटी जायेगी” [और यह भी कि] न्यायाधीश के अनुसार, पूर्व के $33 मिलियन में एक सुधार, जो अब भी ’मामूली’ है।” मामला: एसईसी बनाम बैंक ऑफ अमेरिका कॉर्प., 09-सीवी-06829, न्यूयॉर्क के दक्षिणी जिले के लिये संयुक्त राज्य जिला न्यायालय.

निगरानी और सरकारी सुधार[113] पर, संयुक्त राज्य की संसदीय समिति में चेयरमैन एडोल्फ़स टाउन्स (डी-एनवाय) के अधीन,[114] और जाँचकर्ता डोमेस्टिक पॉलिसी सबकमिटी में क्युसिनिच के अधीन इस मामले पर जाँच भी बिठाया गया था।

फ़ेडरल बेलआउटसंपादित करें

बैंक ऑफ अमेरिका ने 16 जनवरी 2009 को फ़ेडरल बेलआउट में ट्रबल्ड एसेट रिलीफ़ प्रोग्राम (टीएआरपी) के जरिये अमेरिकी सरकार से यूएस $20 बिलियन की राशि प्राप्त की और साथ ही कंपनी में हुए संभावित नुकसानों के मद्देनज़र यूएस $118 बिलियन की गारंटी भी प्राप्त की. यह राशि 2008 के फॉल में (टीएआरपी) के जरिये उन्हें दी गयी यूएस $25 बिलियन के अतिरिक्त थी। यह अतिरिक्त भुगतान यूएस सरकार के साथ हुई उस डील का हिस्सा था जो संकटग्रस्त निवेश फ़र्म मेरिल लिंच के साथ बैंक ऑफ अमेरिका के विलय की सुरक्षा के लिये दिया गया था। तब से, यूएस कांग्रेस के सदस्यों ने इस राशि को खर्च किये जाने को लेकर अपनी विचारणीय चिंता जाहिर की थी, विशेषकर जब से कुछ प्राप्तकर्ताओं पर इस बेलआउट राशि के दुरुपयोग का आरोप लगाया गया था। बैंक के सीईओ, केन लेविस ने यह दावा करते हुए कहा “हम अब भी उधार ले रहे हैं और हमें टीएआरपी प्रोग्राम के कारण ही और अधिक ऋण लेना पड़ रहा है।" हालांकि, अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के सदस्य संशय में थे और ऋण के आवेदकों को (विशेषकर छोटे व्यवसायियों को) ऋण देने से मना किया जा रहा था और क्रेडिट कार्ड धारक अपने कार्ड खातों पर कड़ी शर्तों का सामना कर रहे थे।

15 मार्च 2009 को द न्यूयॉर्क टाइम्स में छपे एक आलेख के अनुसार, बैंक ऑफ अमेरिका ने $5.2 बिलियन की एक अतिरिक्त राशि सरकारी बेलआउट मनी के रूप में प्राप्त की थी, जिसे अमेरिकन इंटरनेशनल ग्रुप के जरिये उपलब्ध कराया गया था।

द वाल स्ट्रीट जर्नल ने यह बताया कि बैंक ऑफ अमेरिका अमेरिकी सरकार के साथ एक गुप्त “मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग” (एमओयू) के तहत काम कर रही थी जिसके लिये इसे “अपने बोर्ड और उन पतों की जाँच करवाने की आवश्यकता थी जिनमें जोखिम और तरलता प्रबंधन को लेकर समस्याएं खड़ी हो रही थीं।” फ़ेडरल की कार्रवाई के साथ, संस्थान ने कई कदम उठाये जिनमें अपने छ: निदेशकों को इस्तीफ़ा देने की व्यवस्था करना और एक रेगुलेटरी इम्पैक्ट कार्यालय का गठन करना शामिल था। बैंक ऑफ अमेरिका को जुलाई और अगस्त में कई डेडलाइनों का सामना करना पड़ा और अगर इनका पालन नहीं किया जाता तो, फ़ेडरल रेगुलेटरों द्वारा और कड़े जुर्मानों का सामना करना पड़ता था। बैंक ऑफ अमेरिका ने द वाल स्ट्रीट जर्नल की इस कहानी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

2 दिसम्बर 2009 को बैंक ऑफ अमेरिका ने यह घोषणा की कि यह टीएआरपी के जरिये प्राप्त यूएस $45 बिलियन की संपूर्ण राशि का भुगतान कर देगी और $26.2 बिलियन की अतिरिक्त तरलता सहित “कॉमन इक्वीवैलेंट सिक्योरिटीज” (टियर 1 कैपिटल) में प्राप्त होनेवाली $18.6 बिलियन राशि का उपयोग करते हुए, इस कार्यक्रम से बाहर आ जायेगी. 9 दिसम्बर को बैंक ने घोषणा की कि इसने उक्त भुगतान का काम पूरा कर लिया है। घोषणा के समय बैंक ऑफ अमेरिका के केन लेविस ने कहा, “हम पिछले फॉल में वित्तीय बाज़ार को स्थिर करने के प्रयासों में यूएस सरकार द्वारा निभायी गयी महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना करते हैं और हम उक्त राशि का ब्याज सहित, संपूर्ण भुगतान कर पाने में सक्षम होने पर काफ़ी प्रसन्न हैं।.. अमेरिका के सबसे बड़े बैंक के रूप में, हमारे ऊपर करदाताओं के निवेश की सुरक्षा की जिम्मेदारी बनती है और हमारे आंकड़े यह दिखाते हैं कि हम ऋण देते समय इस वचनबद्धता को पूरा कर पाने में सक्षम रहे हैं।”[5][6]

बैंक ऑफ अमेरिका का विभाजनसंपादित करें

 
बैंक ऑफ अमेरिका का एटीएम
 
वाशिंगटन डी.सी. में बैंक ऑफ अमेरिका की शाखा

बैंक ऑफ अमेरिका अपने राजस्व का 90% अपने घरेलू बाज़ार से जुटाती है और यूएस में नये व्यवसायों को खरीदने का काम करती है। बैंक ऑफ अमेरिका की रणनीति का महत्वपूर्ण पहलू है अपने घरेलू बाज़ार में नंबर एक बैंक बनना. इस लक्ष्य को इसने अधिग्रहणों के जरिये प्राप्त किया है।

उपभोक्तासंपादित करें

ग्लोबल कंज्यूमर एंड स्मॉल बिजनेस बैंकिंग (जीसीएंडएसबीबी) कंपनी की सबसे बड़ी शाखा है और यह मुख्य रूप से कंज्यूमर बैंकिंग एवं क्रेडिट कार्ड जारी करने का काम करती है। फ़्लीटबोस्टन और एमबीएनए के अधिग्रहण ने इसके आकार और सेवाओं के विस्तार को उल्लेखनीय रूप से आगे बढ़ाया है, जिसके परिणामस्वरूप 2005 में, कंपनी के कुल राजस्व में तकरीबन 51% की वृद्धि हुई. यह सिटी ग्रुप और जेपी मॉर्गन चेज के रिटेल बैंकिंग विभागों से सीधे तौर पर मुकाबला करती है। जीसीएंडएसबीबी संस्थान के पास संपूर्ण संयुक्त राज्य अमेरिका में 6,100 रिटेल शाखाएं और 18,700 एटीएम मौजूद हैं।

बैंक ऑफ अमेरिका ग्लोबल एटीएम एलायंस की एक सदस्य है, जो कई बड़े अंतरराष्ट्रीय बैंकों का एक संयुक्त उद्यम है, जो बैंकों के उपभोक्ताओं को उनके एटीएम कार्ड का उपयोग करने या ग्लोबल एटीएम एलायंस के अंतर्गत अंतरराष्ट्रीय यात्राओं के दौरान, बगैर कोई एटीएम पहुँच शुल्क लिये दूसरे बैंकों में कार्ड की जाँच करने की अनुमति देता है। इसमें शामिल अन्य बैंक हैं बार्कलेज (युनाइटेड किंगडम), बीएनपी पारिबा (फ़्रांस), चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक (चीन), डोयशे बैंक (जर्मनी), सैटान्डर सर्फ़िन (मेक्सिको), स्कोटिया बैंक (कनाडा) और वेस्टपैक (अस्ट्रेलिया एवं न्यूज़ीलैंड). इस सुविधा को डेबिट कार्ड के उपयोग द्वारा निकासी तक सीमित रखा गया है, हालांकि क्रेडिट कार्ड के जरिये धन की निकासी पर अब भी अग्रिम नगदी निकासी शुल्क और विदेशी करेंसी रूपांतरण शुल्क लगाये जाते हैं। इसके अतिरिक्त, कुछ विदेशी एटीएम स्मार्ट कार्ड तकनीक का उपयोग करते हैं और गैर-स्मार्ट कार्ड को स्वीकार नहीं भी कर सकते हैं।

मेरिल मिंच के अधिग्रहण के परिणामस्वरूप बैंक ऑफ अमेरिका बैंकिंग एवं ब्रोकरेज उत्पादों की सेवा प्रदान करती है। “ऐड इट अप” और “कीप द चेंज” जैसे बचत प्रोग्राम को अच्छी प्रतिक्रिया मिली है और 2008 की आर्थिक मंदी (रिसेशन) के दौरान बैंकों द्वारा किये गये प्रोडक्ट डेवलपमेंट का प्रतिबिंब हैं।

बैंक ऑफ अमेरिका, एन.ए. एक राष्ट्रीय स्तर का चार्टर्ड बैंक है, जो करेंसी लेखा-नियंता (कंट्रोलर ऑफ द करेंसी), कोषागार विभाग (ट्रेजरी डिपार्टमेंट) के कार्यालय द्वारा विनियमित की जाती है।

कॉर्पोरेटसंपादित करें

बैंक ऑफ अमेरिका द्वारा मेरिल लिंच के अधिग्रहण से पहले, ग्लोबल कॉरपोरेट एंड इनवेस्टमेंट बैंकिंग (जीसीआईबी) व्यवसाय को बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज एलएलसी. के रूप में संचालित किया जा रहा था। बैंक की इनवेस्टमेंट बैंकिंग गतिविधियों का संचालन मेरिल लिंच सबसीडियरी के अंतर्गत हो रहा था और इसके द्वारा विलयों एवं अधिग्रहणों की परामर्शदाता सेवा, अंडर राइटिंग, कैपिटल मार्केट्स के साथ-साथ फ़िक्स्ड इनकम और इक्विटी मार्केट्स में सेल्स एवं ट्रेडिंग की सुविधाएं प्रदान की जा रही थी। इसके सबसे मजबूत समूहों में लीवरेज़्ड फ़ाइनांस, सिंडिकेटेड लोन और मॉर्गेज-बैक्ड सिक्योरिटीज शामिल थीं। वॉल स्ट्रीट में सबसे बड़ी रिसर्च टीमों में से एक इसके पास थी। बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज एलएलसी. न्यूयॉर्क में स्थित है और इसके प्रमुख कार्यालय चार्लोट, शिकागो, सैन फ़्रांसिस्को, टोरंटो, टोक्यो, फ़्रैंकफ़र्ट, लंदन और मुम्बई में भी मौजूद हैं।

निवेश प्रबंधन (इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट)संपादित करें

ग्लोबल वेल्थ एंड इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट संस्थानों और व्यक्तियों की संपत्तियों का प्रबंधन करती है। यह 10 सबसे बड़े यू.एस. वेल्थ मैनेजरों में से एक है (30 जून 2005 तक $1 मिलियन या इससे अधिक के खातों में प्राइवेट बैंकिंग एसेट्स अंडर मैनेजमेंट द्वारा दिया गया रैंक). जुलाई 2006 में, चेयरमैन केन लेविस ने घोषणा की कि जीडब्ल्युआईएम की कुल प्रबंधन अधीन संपत्ति $500 बिलियन से अधिक हो गयी है। जीडब्ल्युआईएम के पास व्यवसाय पाँच प्रमुख क्षेत्र हैं: प्रीमियर बैंकिंग एंड इन्वेस्टमेंट्स (बैंक ऑफ अमेरिका इन्वेस्टमेंट सर्विसेस, आईएनसी. सहित), द प्राइवेट बैंक, फ़ैमिली वेल्थ एड्वाइजर्स, कोलंबिया मैनेजमेंट ग्रुप और बैंक ऑफ अमेरिका स्पेशियलिस्ट.


बैंक ऑफ अमेरिका ने हाल ही में अपने यूएस इन्वेस्टमेंट बैंकिंग बिजनेस के भवन पर $675 मिलियन की राशि खर्च की है और यह दुनिया भर के पाँच सर्वप्रमुख (टॉप) इन्वेस्टमेंट बैंकों में से एक बनना चाहती है। “बैंक ऑफ अमेरिका का दुनिया भर के कॉरपोरेट एवं वित्तीय संस्थानों के साथ पहले से ही बेहतरीन संबंध बना हुआ है। इसके ग्राहकों में यूएस की 98% फॉर्चून 500 कंपनियाँ और 79% ग्लोबल फॉर्चून 500 कंपनियाँ शामिल हैं। इन संबंधों के साथ-साथ कंपनी के पास एक ऐसा बैलेंस शीट है जिसके लिये अधिकांश बैंक ललायित रहते हैं, ये सब एक अत्यंत ऊँचे लक्ष्य के आधारस्तंभ हैं।”


बैंक ऑफ अमेरिका के पास न्यूयॉर्क सिटी में इसके कार्यसंचालन के लिये अनेकों नये मुख्यालय मौजूद हैं। द स्काईस्कैपर 42वीं स्ट्रीट पर और एवेन्यू ऑफ द अमेरिकाज, ब्रायंट पार्क में स्थित है और इसके 2.1 मिलियन वर्ग फ़ीट (195,096 वर्ग मीटर) के संपूर्ण कार्यालय परिसर में अत्याधुनिक सुविधाएं एवं पर्यावरण अनुकूल तकनीक मौजूद हैं। यह भवन कंपनी के इन्वेस्ट्मेंट बैंकिंग डिविजन का मुख्यालय है, साथ ही बैंक ऑफ अमेरिका के अधिकांश न्यूयॉर्क स्थित कर्मचारी यहाँ कार्यरत हैं।

अंतरराष्ट्रीय गतिविधियाँ (इंटरनेशनल ऑपरेशंस)संपादित करें

2005 में, बैंक ऑफ अमेरिका ने चीन के दूसरे सबसे बड़े बैंक, चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक में 9% की हिस्सेदारी का अधिग्रहण $3 बिलियन में किया। इसने चीन के उभरते बैंकिंग सेक्टर में कंपनी के सबसे बड़े प्रवेश का प्रतिनिधित्व किया। बैंक ऑफ अमेरिका के पास इस समय हांगकांग, शंघाई और गुआंगझाउ में अपने कार्यालय हैं और इस सौदे के बाद यह चीन में अपने व्यवसाय को काफ़ी तेजी से आगे बढ़ाना चाहती है। 2008 में बैंक ऑफ अमेरिका को डील ऑफ द ईयर - 2008 एएलबी हांगकांग लॉ अवार्ड में प्रोजेक्ट फ़ाइनांस डील डील ऑफ द ईयर का पुरस्कार दिया गया। वर्तमान समय में, बैंक ऑफ अमेरिका के पास मुंबई, चेन्नई, कोल्काता, नई दिल्ली और बंगलुरु में अपनी शाखाएं हैं। 31 मार्च 2006 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में, बैंक ऑफ अमेरिका ने अपने शुद्ध लाभ (नेट प्रोफ़िट) में 80% की बढ़त दर्ज की थी।

बैंक ऑफ अमेरिका ने ब्राज़ील सहित, कई अन्य लैटिन अमेरिकी देशों में बैंकबोस्टन के नाम से अपनी गतिविधियाँ चला रही है। 2006 में, बैंक ऑफ अमेरिका ने बैंकबोस्टन के सभी ऑपरेशंस को ब्राज़ीलियन बैंक बैंको इटाउ के पास, इटाउके शेयरों के बदले बेच दिया था। बैंकबोस्टन के नाम और ट्रेडमार्क इस सौदे का हिस्स नहीं थे और सेल एग्रीमेंट के एक हिस्से के रूप में, बैंक ऑफ अमेरिका द्वारा इनका उपयोग नहीं किया जा सकता था। (इसका अर्थ हुआ बैंकबोस्टन ब्रांड को इससे अलग रखना.)

बैंक ऑफ अमेरिका का ग्लोबल कॉरपोरेट एंड इन्वेस्ट्मेंट बैंकिंग दुनिया भर में फ़ैला हुआ है और इसकी शाखाएं संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप, एवं एशिया में मौजूद हैं। यू.एस. मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थित हैं, जबकि यूरोपियन मुख्यालय लंदन में और एशिया मुख्यालय सिंगापुर और हांगकांग के बीच बँटे हुए हैं।

बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर्ससंपादित करें

ऐतिहासिक डेटासंपादित करें

File:Bofa_al.jpg|परिसंपत्ति और देयता File:Bofa_al_ratio.jpg|परिसंपत्ति / देयता अनुपात File:Bofa_income.jpg|शुद्ध आय [10]

प्रमुख शेयरधारकसंपादित करें

व्यक्ति शेयरों की संख्या
केनेथ डी लुईस 2,372,260
जॉन ए थेन 679,946
ब्रूस एल हैमंड्स 504,429
कीथ टी बैंक्स 336,371
चार्ल्स के गिफ्फोर्ड 334,176
संस्थाएं शेयरों की संख्या %
बार्क्लेस ग्लोबल इन्वेस्टर्स 192,077,414 3.83
स्टेट स्ट्रीट कॉर्प 187,394,299 3.73
एफएमआर 152,596,052 3.04
वेनगार्ड ग्रुप 142,204,635 2.83
केपिटल वर्ल्ड इन्वेस्टर्स 114,829,550 2.29
वेलिंगटन मेनेजमेंट कॉम्प 102,053,133 2.03
एक्सा 89,824,923 1.79
बैंक ऑफ न्यूयॉर्क मेलन कॉर्प 65,284,687 1.30
मॉर्गन स्टेनली 58,081,288 1.16
जेपी मॉर्गन चेस एंड कंपनी 54,816,605 1.09
  • याहू से डाटा

! जनवरी 1, 2009 तक का फाइनेंस

अन्य व्यक्तिसंपादित करें

जोनाथन फिंगर, जिनका हयूस्टन स्थित परिवार 1 मिलियन से अधिक शेयरों का मालिक है और जिन्होंने बोर्डरूम में बदलावों के लिए दबाव डाला था

सामाजिक जिम्मेदारी (सोशल रिस्पांसिबिलिटी)संपादित करें

मैनहैटन में स्थित अपने नये इको-फ़्रेंडली ऑफिस टावर के अतिरिक्त, बैंक ऑफ अमेरिका ने "पर्यावरण" का ध्यान रखने वाली परियोजनाओं के लिए व्यावसायिक ऋण और निवेश बैंकिंग पर अरबों डॉलर खर्च करने की अपनी प्रतिबद्धता स्पष्ट की है। कॉरपोरेशन ने अपने समस्त कर्मचारियों को हाइब्रिड वाहन खरीदने के लिये कैश इंसेन्टिव दिये हैं और उन उपभोक्ताओं के लिये जिनके घर एनर्जी एफ़िसिएंट के रूप में योग्य साबित होते है, मॉर्गेज लोन ब्रेक्स देना शुरु किया है। 2007 में, बैंक ऑफ अमेरिका ने पहले एक इको फ़्रेंडली क्रेडिट कार्ड और बाद में एक डेबिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध कराने के लिये, ब्राइटर प्लैनेट के साथ एक साझेदारी की है। कॉरपोरेशन डाउनटाउन चार्लोट में वन बैंक ऑफ अमेरिका सेंटर का निर्माण कर रही है। यह टावर और इससे जुड़ा होटल, एक लीड-सर्टिफ़ाइड बिल्डिंग भवन होगा.

बैंक ऑफ अमेरिका ने मैसाचुसेट्स में स्वास्थ्य केंद्रों की मदद के लिये राशि भी दान की है और मियामी में बेघर शरण स्थलों की मदद के लिये दान दिया है।

2004 में, बैंक ने सामुदायिक विकास संबंधी ऋण और निवेश के लिये दस-वर्ष की अवधि में $750 बिलियन की राशि खर्च करने की प्रतिबद्धता की है। कंपनी ने अफ़ोर्डेबल मॉर्गेज प्रदान करने, अफ़ोर्डेबल हाउसिंग तैयार करने, छोटे व्यवसायों की मदद करने और आस-पास के पिछड़े इलाकों में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिये 1998 में लिये गये $350 बिलियन के एक दस-वर्षीय संकल्प को पूरा करने के लिये $230 बिलियन से अधिक की राशि उपलब्ध करायी है।

विविधताएं और समावेशन (डाइवर्सिटी एंड इन्क्लूजन)संपादित करें

 
वाशिंगटन.डी.सी.में बैंक ऑफ अमेरिका

बैंक ऑफ अमेरिका को वर्किंग मदर पत्रिका द्वारा 2007 में, 19वें वर्ष के लिये “100 बेस्ट कंपनीज़ फ़ॉर वर्किंग मदर्स” में से एक का खिताब दिया गया। 2006 में, बैंक ऑफ अमेरिका वर्किंग मदर पत्रिका के हॉल ऑफ फेम में शामिल की गयी पहली कंपनियों में से एक थी।

2007 में, डाइवर्सिटी इंक. ने बैंक ऑफ अमेरिका को इस प्रतिष्ठित सूची में विविधता के लिये नंबर एक कंपनी का दर्जा दिया और इसे एग्जीक्यूटिव महिलाओं, हिस्पैनिक्स, एशियन अमेरिकन्स और जीएलबीटी एग्जीक्यूटिव्स के लिये सर्वश्रेष्ठ नियोक्ता का स्थान देने के साथ-साथ विनियोजन एवं रिटेन्शन के लिये नंबर एक, तथा सप्लायर डाइवर्सिटी के लिये नंबर छ: पर रखा.

आईटी सीनियर मैनेजमेंट फ़ोरम (आईटीएसएमएफ़) ने बैंक ऑफ अमेरिका को “2007 ऑर्गेनाइजेशन ऑफ द ईयर” का सम्मान दिया. यह पुरस्कार विकास के क्षेत्रों में नेतृत्व के लिये और एक विविधतापूर्ण कार्यस्थल तैयार करने के लिये प्रतिवर्ष दिया जाता है।

नेशनल ब्लैक एमबीए एसोसिएशन ने बैंक ऑफ अमेरिका को कार्यस्थल में काले लोगों (ब्लैक्स) के लिये रोजगार, निरंतरता और उन्नति के अवसर पैदा करने के लिये “2006 कंपनी ऑफ द ईयर” का पुरस्कार दिया. इसने बैंक ऑफ अमेरिका के प्रबंध निदेशक, ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के कार्यकारी प्रमुख लेविस वारेन, जूनियर को “वाल स्ट्रीट के 75 सबसे शक्तिशाली ब्लैक्स” में से एक का खिताब भी दिया.

बैंक ऑफ अमेरिका को हिस्पैनिक्स बिजनेस मैगजीन द्वारा 2006 में हिस्पैनिक्स के लिये नंबर वन कंपनी का नाम दिया गया था। लैटिन स्टाइल अपने 50 बेस्ट कंपनीज फ़ॉर लैटिनाज के लिये, जो लैटिन वासियों के लिये रोजगार, निरंतरता और उन्नति के अवसरों के आधार पर कंपनियों का मूल्यांकन करती है, अपनी टॉप 15 की सूची में बैंक ऑफ अमेरिका को नियमित रूप से शामिल करती आ रही है।

ह्यूमन राईट्स कैम्पेन 2006 कॉरपोरेट इक्वलिटी इंडेक्स ने बैंक ऑफ अमेरिका को इसके द्वारा समलैंगिक (गे, लेस्बियन्स, बाइसेक्सुअल और ट्रांसजेंडर) साथियों की सहायता के लिये 100% की रेटिंग दी है।

उपभोक्ता ऋण संबंधी विवाद (कंज्यूमर क्रेडिट कट्रोवर्सीज)संपादित करें

जनवरी 2008 में बैंक ऑफ अमेरिका ने कुछ उपभोक्ताओं को, जिनके साथ भुगतान संबंधी कोई समस्या नहीं थी, सूचित करना शुरू किया कि उनके ब्याज दर दोगुने से अधिक, 28% तक हो गये थे। बेहतर हिसाब-किताब वाले उपभोक्ताओं के लिये ब्याज दरों को बढ़ाने और ऐसा करने की वजह बताने से इंकार करने के लिये बैंक की आलोचना की गयी थी। सितंबर 2009 में, बैंक ऑफ अमेरिका के एक क्रेडिट कार्ड उपभोक्ता, ऐन मिंच ने बैंक द्वारा अपना ब्याज दर बढ़ाए जाने की आलोचना करते हुए यू-ट्यूब पर एक वीडियो भेजा. जब यह वीडियो प्रचारित हो गया, तो बैंक ऑफ अमेरिका के एक प्रतिनिधि ने उनसे संपर्क किया, जिसने उसके ब्याज दर को कम कर दिया. टेलीविजन और इंटरनेट कमेंटेटरों के जरिये इस कहानी ने राष्ट्रीय स्तर पर लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा। हाल ही में, बैंकों द्वारा कथित रूप से उन तीन संपत्तियों को जब्त करने पर, जो उनके स्वामित्व की नहीं थी, ऊपरी तौर पर ऐसा उनके कानूनी दस्तावेजों में गलत पता दर्ज होने के कारण हुआ था, बैंकों की आलोचना की गयी।

बैंक ऑफ अमेरिका कॉर्पोरेट की बिल्डिंगसंपादित करें

 
अटलांटा, जॉर्जिया में बैंक ऑफ अमेरिका का प्लाज़ा.

इन्हें भी देखेसंपादित करें

साँचा:Companies portal

सन्दर्भसंपादित करें

टिप्पणियांसंपादित करें

  1. http://services.corporate-ir.net/SEC/Document.Service?id=P3VybD1hSFIwY0RvdkwyRndhUzUwWlc1cmQybDZZWEprTG1OdmJTOWtiM2R1Ykc5aFpDNXdhSEEvWVdOMGFXOXVQVkJFUmlacGNHRm5aVDB4TURjMk9ETTNOaVp6ZFdKemFXUTlOVGM9JnR5cGU9MiZmbj1CYW5rb2ZBbWVyaWNhQ29ycG9yYXRpb25fMTBLXzIwMTYwMjI0LnBkZg==.
  2. http://media.corporate-ir.net/media_files/IROL/71/71595/BOAML_2019_Proxy.pdf.
  3. https://www.sec.gov/ix?doc=/Archives/edgar/data/70858/000007085819000012/bac-1231201810xk.htm.
  4. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; NYT10 नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  5. Bank of America to Repay Entire $45 Billion in TARP to U.S. Taxpayers, Archived 2009-12-05 at the Wayback Machine पीआर न्यूज़वायर 2 दिसम्बर 2009.
  6. "Bank of America Completes US TAPR Repayment". 12-10-2009. मूल से 23 मई 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 12 दिसम्बर 2009. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  7. "Bank of America Says Three directors Quit as Exodus Totals 10" Archived 2009-01-22 at the Wayback Machine बाय डेविड मिडेनबर्ग Bloomberg.com, 1 अगस्त 2009. 8/1/09 को प्राप्त किया गया।
  8. Company Web page Archived 2018-11-06 at the Wayback Machine 8/2/09 को प्राप्त किया गया।
  9. "UPDATE 1-BofA board adds DuPont's Holliday". www.reuters.com. अभिगमन तिथि 22 सितंबर 2009. पाठ " Markets " की उपेक्षा की गयी (मदद); पाठ " Markets News " की उपेक्षा की गयी (मदद); पाठ " Reuters " की उपेक्षा की गयी (मदद)
  10. <http://www.moneyeconomics.com/index.php?option=com_content&view=article&id=150:-top-10-by-total-asset-bank-of-america&catid=42:saving-rates&Itemid=106 Money Economics Top 10 Banks Project>

अग्रिम पठनसंपादित करें

एक्सटर्नल लिंक्स (बाह्य कड़ियाँ)संपादित करें