ब्रंटलैण्ड आयोग जिसका पूरा नाम पर्यावरण एवं विकास पर संयुक्त राष्ट्र विश्व आयोग (World Commission on Environment and Development) या (WCED) है, १९८३ में संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त एक २१ सदस्यीय आयोग था जिसकी अध्यक्षा नार्वे की पूर्व प्रधानमंत्री ग्रो हर्लेम ब्रंटलैण्ड थीं। इस आयोग ने अपनी रिपोर्ट हमारा साझा भविष्य १९८७ में जारी किया जिसे ब्रंटलैण्ड रिपोर्ट भी कहा जाता है।[1] इसे १९९१ का The Grawemeyer award मिला।[2]

(the report was)...so blunt and sobering that it forced the issue of global responsibility onto the international agenda.

Time magazine[3]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "History of Sustainability". मूल से 2 मई 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 जुलाई 2014.
  2. The Grawemeyer award - 1991 - The United Nations World Commission on Environment and Development Archived 2013-11-03 at the Wayback Machine
  3. The Grawemeyer award