ब्रह्मजाल सूत्र (साँचा:CJKV, बौद्ध धर्म के महायान सम्प्रदाय का विनय सूत्र है। इसका चीनी अनुवाद तैशो त्रिपिटक में मिलता है।[1] इसी प्रकार, इसका तिब्बती अनुवाद पीकिंग कंगयूर २५६ में मिलता है। [2] तिब्बती भाषा से इसका मंगोली एवं मंचू भाषाओं में भी अनुवाद हुआ। इसे 'ब्रह्मजालबोधिसत्त्व शील सूत्र' भी कहते हैं।

ब्रह्मजाल सूत्र में वर्णित वैरोचन

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Taisho 1484 is found in Volume 24 of the Taisho Tripitaka."Taishō Shinshū Daizōkyō" 大正新脩大藏經 [Taishō Shinshū Tripitaka]. CBETA 漢文大藏經 (Chinese में). मूल से 1 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 जनवरी 2020. This is an index to the Taisho Tripitaka - nb Volume 24 is listed as the last volume in the 律部 or Vinaya Section. Taisho 1484 or the Brahmajala Sutra is located here.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  2. 東京帝國大學法文學部編財團法人齋藤報恩會補助. 西藏大藏經總目錄索引-A Catalogue-Index of The Tibetan Buddhist Canons (Bkah-hgyur and Bstan-bgyur). पृ॰ 10,102. on page 10: Chos-kyi rgya-mo, sans-rgyas rnam-par-snan-mdsad-kyis byan-chub-sems-dpahi sems-kyi gnas bsad-pa lehu bcu-pa [Peking (Beijing) Kangyur No.] 256; on page 102: [Peking (Beijing) Kangyur No.] 256 [Taisho] 1484सीएस1 रखरखाव: authors प्राचल का प्रयोग (link)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें