ब्रह्मताल समुद्र तल से ११०० फ़ीट की ऊँचाई पर एक बुग्याल है जो चमोली के देवाल विकासखण्ड में स्थित है यहाँ के लिए लोहाजंग मुन्दोली भेंकलताल होते हुए जाना पड़ता है जाने के लिए रथगांव और वाँण से भी जाया जा सकता है लेकिन यहाँ से यह काफी दूर पड़ता है जो उत्तराखण्ड के बुग्यालों 'बेदिनी', 'केदारकांठा', 'दायरा' की तरह ही प्रसिद्ध है,

ब्रह्मताल से पूर्व की ओर त्रिशूल व नन्दा देवी पर्वत श्रृंखलाओं का दृश्य ब्रह्मताल से ऊपर जाने पर ठण्ड के कारण वृक्षों की सीमा समाप्त हो जाती है ब्रह्मताल से सूर्योदय व सूर्यास्त का दृश्य मंत्रमुग्ध करने वाला प्रतीत होता है यहाँ से कई पर्वत श्रृंखलाएं क्रमानुसार एक के बाद एक सीध में दिखती हैं जो यहाँ के अनूठेपन को दर्शाती है,पूर्व की ओर दृष्टि डालने पर बेदिनी,रूपकुण्ड का नजारा अति लुभावना दिखता है और नंदा देवी व त्रिशूल पर्वत श्रृंखलाएं दिखाई देती हैं दक्षिण की ओर कुमाऊं की पहाड़ियां दिखाई देती हैं, ट्रैकिंग के कारण यह काफी प्रसिद्धि पा चुका है

अभिगमसंपादित करें

मार्ग१संपादित करें

काठगोदाम - गरुड़ - ग्वालदम - देवाल - लोहाजंग

मार्ग२संपादित करें

ऋषिकेश - श्रीनगर - कर्णप्रयाग - देवाल- लोहाजंग

निकटतम हवाई अड्डासंपादित करें

जौलीग्रांट

निकटतम रेलवे स्टेशनसंपादित करें

ऋषिकेश , काठगोदाम