भगभद्र शुंग राजवंश के एक राजा थे। उन्होंने ११० ईसा पूर्व के लगभग उत्तर केन्द्रीय और पूर्वी भारत में शासन किया। यद्यपि शुंग की राजधानी पाटलीपुत्र थी, उन्हें विदिशा में अदालत निर्माण के लिए भी जाना जाता है। शुंग राजवंश ने ११२ वर्षों तक शासन किया और उनमें से ९वें राजा भग को विदिशा के भद्र के रूप में जाना जाता है।[1][2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. भंवरलाल द्विवेदी (1994). Evolution of educational thought in India [भारत में शैक्षिक सोच का विकास] (अंग्रेज़ी में). नॉर्थन बुक सेण्टर. पृ॰ 106. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788172110598. मूल से 3 दिसंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 नवंबर 2013.
  2. आशा विष्णु (1993). Material Life of Northern India [उत्तरी भारत का भौतिक जीवन] (अंग्रेज़ी में). मित्तल पब्लिकेशन्स. पृ॰ 4. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170994107. मूल से 2 दिसंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 24 नवंबर 2013.