भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी)

भारत का एक राष्ट्रीय राजनैतिक दल

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (संक्षेप: माकपा) भारत का एक राष्ट्रीय राजनैतिक दल है। इसकी स्थापना भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कुछ नेताओं ने विखण्डित होकर 1964 में की थी।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी)
स्थापित 7 नवम्बर 1964; 56 वर्ष पहले (1964-11-07)
मुख्यालय नई दिल्ली, भारत
गठबंधन वाममोर्चा
लोक सभा में सीटें
3 / 545
राज्य सभा में सीटें
5 / 245
चुनाव चिन्ह
Indian Election Symbol Hammer Sickle and Star.png
वेबसाइट
cpim.org

स्थापना एवं इतिहाससंपादित करें

7 नवम्बर 1964 में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी की स्थापना हुई इसकी स्थापना कम्युनिस्ट पार्टी के विभाजन से हुई। इसकी स्थापना ई० एम० एस० डांगे ने की।

मुख्यमंत्रियों की सूचीसंपादित करें

केरल के मुख्यमंत्रीसंपादित करें

कुंजी
  • *  – पदासीन मुख्यमंत्री
क्रम मुख्यमंत्री नियुक्ति तिथि निवृत्ति तिथि पदावधि विधानसभा
ई० एम० एस० नंबूदरीपाद ६ मार्च १९६७ १ नवंबर १९६९ &0000000083851200.0000002 वर्ष, 240 दिन तृतीय विधानसभा
ई.कृष्णन नयनार छठीं, ८वीं तथा १०वीं
वी.एस.अच्युतानंदन १८ मई २००६ १४ मई २०११ &0000000157420800.0000004 वर्ष, 361 दिन १२वीं विधानसभा
विजयन, पिनाराईपिनाराई विजयन* २५ मई २०१६ पदस्थ &0000000168069600.0000005 वर्ष, 119 दिन १४वीं विधानसभा [1]

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रीसंपादित करें

क्रम मुख्यमंत्री नियुक्ति तिथि निवृत्ति तिथि पदावधि विधानसभा
ज्योति बसु २१ जून १९७७ ५ नवंबर २००० &0000000737661600.00000023 वर्ष, 137 दिन ८वीं, नवीं, १०वीं, ११वीं तथा १२वीं
बुद्धदेव भट्टाचार्य ६ नवंबर २००० १३ मई २०११ &0000000331819200.00000010 वर्ष, 188 दिन १२वीं, १३वीं तथा १४वीं

त्रिपुरा के मुख्यमंत्रीसंपादित करें

क्रम मुख्यमंत्री नियुक्ति तिथि निवृत्ति तिथि पदावधि विधानसभा
नृपेन चक्रवर्ती ५ जनवरी १९७८ ५ फरवरी १९८८ &0000000318254400.00000010 वर्ष, 31 दिन चौथी एवं पांचवी
दशरथ देववर्मा १० अप्रैल १९९३ ११ मार्च १९९८ &0000000155174400.0000004 वर्ष, 335 दिन सातवीं
माणिक सरकार ११ मार्च १९९८ ९ मार्च २०१८ &0000000630957600.00000019 वर्ष, 363 दिन ८वीं, नवीं एवं १०वीं

सांसदों की सूचीसंपादित करें

लोकसभा अध्यक्षसंपादित करें

क्रम लोकसभा अध्यक्ष नियुक्ति तिथि निवृत्ति तिथि संदर्भ
चौदहवीं लोकसभा सोमनाथ चटर्जी ४ जून २००४ ३१ मई २००९ [2][3]

राज्यसभासंपादित करें

क्रम राज्य निर्वाचित सांसद नियुक्ति तिथि निवृत्ति तिथि टीप
पश्चिम बंगाल विकास रंजन भट्टाचार्य ३ अप्रैल २०२० २ अप्रैल २०२६
केरल ईलमराम करीम २ जुलाई २०१८ १ जुलाई २०२४
के.सोमप्रसाद ३ अप्रैल २०१६ २ अप्रैल २०२२
के.के.रागेश २२ अप्रैल २०१५ २१ अप्रैल २०२१
त्रिपुरा झरना दास वैद्य ३ अप्रैल २०१० २ अप्रैल २०२२ द्वितीय कार्यकाल

सत्रहवीं लोकसभासंपादित करें

क्रम राज्य निर्वाचन क्षेत्र निर्वाचित सांसद
तमिलनाडु कोयम्बटूर पी.आर.नटराजन
मदुरै सु.वेंकटेशन
केरल अलप्पुझा ए.एम.आरिफ़

सांगठनिक संरचनासंपादित करें

महासचिवसंपादित करें

क्रम महासचिव कार्यकाल
पुच्चलापल्ली सुंदरय्या 1964-78
ई० एम० एस० नंबूदरीपाद 1978-92
हरकिशन सिंह सुरजीत 1992-2005
प्रकाश करात 2005-15
सीताराम येचुरी 2015 से वर्तमान [4][5]

पोलितब्यूरोसंपादित करें

२२वीं पार्टी कांग्रेस[6]

  1. सीताराम येचुरी, महासचिव
  2. प्रकाश करात, पूर्व महासचिव
  3. एस. रामचंद्रन पिल्लई
  4. बिमान बोस
  5. माणिक सरकार, पूर्व मुख्यमंत्री, त्रिपुरा
  6. वृंदा करात
  7. पिनाराई विजयन, मुख्यमंत्री, केरल
  8. हन्नान मुल्ला
  9. कोडियारी बालकृष्णन
  10. सूर्यकांत मिश्रा
  11. एम.ए.बेबी
  12. मोहम्मद सलीम
  13. सुभाषिनी अली
  14. बी.वी.राघवुलु
  15. जी.रामकृष्णन
  16. तपन सेन
  17. नीलोत्पल बसु

चुनावी इतिहाससंपादित करें

लोकसभा चुनाव २००४संपादित करें

सन् २००४ के लोकसभा चुनावों में माकपा ने अपने चुनावी इतिहास का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए भारत के विभिन्न राज्यों में कुल ४३ स्थानों पर जीत सुनिश्चित करने में सफलता प्राप्त की।

राज्य सीटें लड़ीं सीटें जीतीं +/- मत %
आंध्र प्रदेश   १.०४
केरल १३ १२   ३१.५२
तमिलनाडु   २.८७
पश्चिम बंगाल ३२ २६   ३८.५७
त्रिपुरा   ६८.८०
कुल ६९ ४३ १०   ५.६६

लोकसभा चुनाव २००९संपादित करें

राज्य सीटें लड़ीं सीटें जीतीं +/- मत %
आंध्र प्रदेश   १.२७
केरल १४   ३०.४८
तमिलनाडु   २.२०
पश्चिम बंगाल ३३ १७   ३३.१०
त्रिपुरा   ६१.६९
कुल ८२ १६ २७   ५.३३

लोकसभा चुनाव २०१४संपादित करें

राज्य सीटें लड़ीं सीटें जीतीं +/- मत %
केरल १४  
तमिलनाडु  
पश्चिम बंगाल ३३  
त्रिपुरा  
कुल ९५  

लोकसभा चुनाव २०१९संपादित करें

लोकसभा चुनाव २०१९ में माकपा का प्रदर्शन अपेक्षाकृत नहीं रहा एवं पार्टी केवल ३ सीटों तक सिमट कर रह गयी, जिनमें २ सीटें तमिलनाडु से तथा १ सीट केरल से प्राप्त हुईं। तीन दशक से भी अधिक समय तक पश्चिम बंगाल की सत्ता में रहने वाली पार्टी का राज्य में खाता तक नहीं खुला, इसी प्रकार त्रिपुरा की भी दोनों सीटें पार्टी के हाथ से निकल गईंं। एकमात्र केरल राज्य में जहां सन् २०१६ से वाममोर्चे की सरकार है एक सीट अपने दम पर पार्टी ने जीती।[7]

राज्य सीटें प्राप्त मत
लड़ीं जीतीं +/- % मत
केरल १४   २५.९७ ५२,६६,५१०
तमिलनाडु   २.४३ १०,१८,२२५
पश्चिम बंगाल ३१   ६.३४ ३५,९४,२८३
त्रिपुरा   १७.५ ३,७२,७८९
योग[8] ६९   १.७७ १,०७,४४,९०८

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

संदर्भसंपादित करें

  1. "Keral CM Official Website". मूल से 1 दिसंबर 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2 नवम्बर 2020.
  2. सोमनाथ चटर्जी लोकसभा अध्यक्ष का कार्यालय
  3. 10 बार सांसद रह चुके सोमनाथ चटर्जी को एक चूक से गंवाना पड़ा लोकसभा का अध्यक्ष पद navodayatimes.in नई दिल्ली 13 अगस्त 2018
  4. सीताराम येचुरी बने सीपीएम के नए महासचिव bbc.com BBC News हिंदी 19 अप्रैल 2015
  5. सीताराम येचुरी फिर सीपीएम के महासचिव बने www.india.com 22 अप्रैल 2018
  6. माकपा की केंद्रीय समिति में बड़ा बदलाव, एक साथ 19 नए चेहरों की एंट्री aajtak.in आजतक नई दिल्ली 23 अप्रैल 2018
  7. 34 साल तक किया एकछत्र राज, अब उम्मीदवारों की जमानत बचाने की हैसियत नहीं India.com हिन्दी, नई दिल्ली, २४ मई २०१९
  8. [20- Performance of National Parties (PDF)] Election Commission of India, Elections, 2019(17th Lok Sabha) official website