मुख्य मेनू खोलें
सन् २००२ में भारत के तत्कालीन उपप्रधानमंत्री श्री लालकृष्ण आडवानी भारतीय भाषा सम्मेलन के प्रतिनिधि-मण्डल से वार्तारत

भारतीय भाषा सम्मेलन एक संगठन है जो भारतीय भाषाओं के हितों की रक्षा करते हुए उनका समुचित विकास सुनिश्चित करने की दिशा में कार्य करता है। यह भारत में प्राथमिक शिक्षा में अंग्रेजी को अनिवार्य बनाने का विरोध करता है। साथ ही यह विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी सेवाओं के लिये अंग्रेजी की अनिवार्यता का भी विरोध करता है।

इस समय (सन २००८) श्री वेद प्रताप वैदिक इसके अध्यक्ष हैं। प्रसिद्ध उद्योगपति श्री एल एन झुनझुनवाला भी इसके सदस्य हैं।