भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का इतिहास

भारत को ब्रिटिश साम्राज्य से मुक्त करने के लिए अनेक संस्थाएं अनेक व्यक्ति कार्यरत थे।उसी समय एक अंग्रेज अधिकारी द्वारा भारतीयों को ब्रिटिश सत्ता के प्रति निष्ठा,ब्रिटिश साम्राज्य को भारत मे मजबूत करने के उद्देश्य से भारतीय कांग्रेस की स्थापना की गई।
१९३१ में अपनाया गया झंडा और जिसका प्रयोग द्वितीय विश्व युद्ध में मुक्त भारत की अन्तःकालीन सरकार द्वारा किया गया।
नमक मार्च पर राष्ट्रवादी

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस भारत की एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी हैं, और पहली भी, जो भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन में अग्रणी थी। इसकी स्थापना २८ दिसम्बर १८८५ को ६५ व्यक्तियों द्वारा हुई व इसकी स्थापना में, ए ओ ह्यूम (एक सेवानिवृत्त ब्रिटिश अधिकारी), दादा भाई नौरोजी और दिनशा वाचा ने अहम भूमिका निभाई। भारत की आज़ादी तक, कांग्रेस सबसे बड़ी और प्रमुख भारतीय जन संस्था मानी जाती थी, जिसका स्वतन्त्रता आन्दोलन में केन्द्रीय और निर्णायक प्रभाव था।