भारती एयरटेल, एक भारतीय दूरसंचार कंपनी है। यह फिक्स्ड लाइन सेवा तथा ब्रॉडबैंड सेवाएँ भी प्रदान करती हैं। [4] यह भारत सहित अफ्रीका के १८ देशों में अपनी सेवा प्रदान करती है। यह अपनी दूरसंचार सेवाएँ एयरटेल के नाम से प्रदान करती है और इसका नेतृत्व सुनील मित्तल करते हैं। कंपनी विभिन्न ऑप्टिकल फाइबर से डाटा का स्थानांतरण करती है।

Bharti Airtel Limited
उद्योग दूरसंचार
स्थापना 7 जुलाई 1995; 26 वर्ष पहले (1995-07-07)[1]
संस्थापक सुनील भारती मित्तल
मुख्यालय नई दिल्ली, भारत
क्षेत्र दक्षिण एशिया और अफ्रीका
प्रमुख व्यक्ति सुनील भारती मित्तल
(Chairman) and (MD)
उत्पाद मोबाइल, ब्रॉडबैंड, और 4जी सेवा
राजस्व Increase 89,473 करोड़ (US$13.06 अरब) (2020)[2]
प्रचालन आय −29,507 करोड़ (US$−4.31 अरब) (2020)[2]
लाभ −31,316 करोड़ (US$−4.57 अरब) (2020)[2]
कुल संपत्ति Increase 3,60,779 करोड़ (US$52.67 अरब) (2020)[2]
कुल इक्विटी Increase 74,417 करोड़ (US$10.86 अरब) (2020)[2]
सदस्य 439.84 million [3]
(Sep-2020)
कर्मचारी 19,138 (Q2 2020) [3]
मातृ कंपनी भारती इंटरप्राइजेज (63.45%)
SingTel (32.15%)
वोडाफोन (4.4%)
सहायक कंपनियाँ
वेबसाइट Airtel.com

एयरटेल भारत की प्रमुख दूरसंचार कंपनी है। ग्राहकों की संख्या की दृष्टि से एयरटेल सेल्यूलर सेवा की भारत तथा विश्व की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। [3] प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार कंपनियां जैसे वोडाफ़ोन और सिंगटेल की भारती एयरटेल में आंशिक भागीदारी है।

इतिहाससंपादित करें

७ जुलाई १९९५ को सुनील भारती मित्तल एयरटेल नींव रखी। [5] सबसे पहले एयरटेल ने दिल्ली में सेवाएं प्रदान करना शुरू की। [6] कुछ ही समय में एयरटेल भारत की पहली ऐसी कंपनी बनी जिसके ग्राहकों की संख्या २० लाख पार की।[7] जुलाई २००४ में एयरटेल ने हैलोटोन सर्विस प्रारम्भ की।[8]


एयरटेल इंडियासंपादित करें

एयरटेल भारत की तीसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी तथा ब्रॉडबैंड की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है।

ब्रॉडबैंडसंपादित करें

एयरटेल भारत के शहरों में ब्रॉडबैंड सर्विस प्रदान करती है। वर्तमान में ये सेवा १०३ शहरों में उपलब्ध है। [9]

टेलीविज़नसंपादित करें

एयरटेल ने डिजिटल टेलीविजन सेवा प्रारम्भ अक्टूबर २००८ में किया। [10] जून २०१९ इसके १६०.२७ लाख ग्राहक थे। [11]

मोबाइल सेवासंपादित करें

दिसम्बर २०१९ तक एयरटेल के २८,३०,३६,००० ग्राहक थे।[12] एयरटेल २जी, ४जी तथा वॉइस कॉल सर्विस प्रदान करती है।

नेटवर्क एवं कवरेजसंपादित करें

भारत, श्रीलंका तथा अफ्रीका के १४ देशों में एयरटेल कार्य करती है। [13] भारत में एयरटेल देश के सभी २२ सर्किलों में कार्य करती है।[14] एयरटेल ने हाल ही में ३जी सेवा बंद की है अब यह केवल २जी तथा ४जी नेटवर्क [15] सेवाएं देती है।

ग्राहक आधारसंपादित करें

३१ दिसम्बर २०१९ तक का ग्राहक आधार इस प्रकार है - [16]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Overview". Airtel.in. मूल से 7 November 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 12 November 2015.
  2. "Bharti Airtel Ltd. Financial Statements". moneycontrol.com.
  3. "Q4 Bharti airtel limited" (PDF). bharti airtel. 30 September 2020. पृ॰ 15. अभिगमन तिथि 29 October 2020.
  4. https://www.airtel.in/about-bharti/equity?icid=hheader
  5. https://hindime.net/bharti-airtel-kya-hai-hindi/
  6. https://hindime.net/bharti-airtel-kya-hai-hindi/
  7. https://web.archive.org/web/20140706081032/http://www.youtube.com/watch?v=NU39b9g1oOo
  8. https://web.archive.org/web/20160117185008/http://telecomtalk.info/airtel-completes-9-years-of-its-hello-tune-service/107420/
  9. https://www.airtel.in/broadband/delhi?icid=hero-banner
  10. "संग्रहीत प्रति". मूल से 4 दिसंबर 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मार्च 2020.
  11. https://s3-ap-southeast-1.amazonaws.com/bsy/iportal/images/Quarterly-IR-Pack-Bharti-Airtel-Consolidated_D9EB4DDAFE7ECBC818A2D3987B78FCC1.pdfhttps://s3-ap-southeast-1.amazonaws.com/bsy/iportal/images/Quarterly-IR-Pack-Bharti-Airtel-Consolidated_D9EB4DDAFE7ECBC818A2D3987B78FCC1.pdf[मृत कड़ियाँ]
  12. https://assets.airtel.in/static-assets/cms/Quarterly-IR-Pack-Bharti-Airtel-Consolidated-05022020.pdf
  13. "संग्रहीत प्रति". मूल से 13 फ़रवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 मार्च 2020.
  14. https://assets.airtel.in/static-assets/cms/Quarterly-IR-Pack-Bharti-Airtel-Consolidated-05022020.pdf
  15. Kunal (2021-02-10). "Airtel APN Settings for Faster Internet in 2021". Backdroid (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2021-06-11.
  16. https://assets.airtel.in/static-assets/cms/Quarterly-IR-Pack-Bharti-Airtel-Consolidated-05022020.pdf