2011 तक, भारत की जनगणना 15 बार की जा चुकी है। 1872 में यह ब्रिटिश वायसराय लॉर्ड मेयो के अधीन पहली बार कराई गयी थी। उसके बाद यह हर 10 वर्ष बाद कराई गयी। हालाकि भारत की पहली संपूर्ण जनगणना 1881 में हुई। 1949 के बाद से यह भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन भारत के महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त द्वारा कराई जाती है।[1] 1951 के बाद की सभी जनगणनाएं 1948 की जनगणना अधिनियम के तहत कराई गईं। अंतिम जनगणना 2011 में कराई गई थी, तथा आगामी जनगणना 2021 में कराई जाएगी।

स्वतंत्रता से पहले भारत की जनगणनासंपादित करें

स्वतंत्र भारत की जनगणनासंपादित करें

  • "महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त का कार्यालय, भारत". महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त का कार्यालय, भारत.