थाईलैण्ड में बौद्ध भिक्खु

वह जिसके हाथ, पैर और जीभ पर नियंत्रण है; जो पूरी तरह से नियंत्रित है, वह जो मन के विकास में आनंदी रहता है, अपने आप को जो ध्यान में लीन रखता है और संतुष्ट है - उसे लोग बौद्ध भिक्खु कहते हैं। ~  धम्मपद भिक्खुवगा.  सुत्त ३६२ !!

बौद्ध सन्यासियों या गुरूओं को भिक्षु (संस्कृत) या भिक्खु (पालि) कहते हैं।

विभिन्न भिक्खुसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें