भूजैवरसायन चक्र

अजैविक तत्वों के जैविक प्रावस्था में परिवर्तन तथा इन जैविक तत्व के अजैविक तत्वों में पुनः आगमन क

भूजैवरसायन चक्र अथवा जैवभूरसायन चक्र एक पारिस्थितिकीय संकल्पना है जिसके अंतर्गत किसी पारितंत्र में पदार्थों के चक्रण को दर्शाया जाता है। यह पारितंत्र की कार्यशीलता का अभिन्न अंग है।[1]

इसके विभिन्न रूप हैं जैसे, कार्बन चक्र, जल चक्र इत्यादि।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Hsgsgsvbsnsjakkxhfbdbbxbznzkdvfbbxnzks KS Zhjdjdkxjfbbfndkzkskndइण्डिया वाटर पोर्टल पर Archived 2014-08-08 at the Wayback Machine