यह मलेशिया सरकार की एक नीति से विक्सित हुआ शब्द है इसके अनुसार स्थानीय लोगो को बाहरी लोगो या प्रवासियों के विरूद्ध सरंक्षण की जरूरत मानी जाती है और यह दी जाती है