यह विश्व की एक प्रमुख जलसन्धि हैं। इसकी लंबाई 805 किमी या 500 मील है। इसका नाम मलक्का के सल्तनत (सोलहवीं सदी) पर पड़ा है। यह जलसंधि अधिक गहरा नहीं (२५ मीटर) जिसके कारण अधिक बड़े जहाज यहाँ से नहीं जा सकते। लेकिन प्रशांत महासागर और हिंदमहासागर के बीच के जल-मार्ग में स्थित होने के कारण इसका बहुत महत्व है। सोलहवीं सदी में पुर्तगालियों ने इस महत्वपूर्ण मार्ग पर कब्ज़ा करने का अभियान चलाया था। सत्रहवीं सदी में डचों ने इसे पुर्तगालियो से छीन लिया और ८० सालों के बाद इसे ब्रिटिशों को एक संधि के तहत दे दिया।

Map of the Strait of Malacca-de.jpg

स्थितिसंपादित करें

इन्डोनेशिया-मलेशिया मलय प्रायद्वीप (प्रायद्वीपीय मलेशिया) और इंडोनेशियाई द्वीप सुमात्रा के बीच स्थित है ! यह हिंद महासागर तथा प्रशांत महासागर को जोडती है।

भौगोलिक महत्वसंपादित करें

यह जल सन्धि हिन्द महासागर और प्रशान्त महासागर जोड़ती है। यह दोनों महासागरों का मिलन बिंदु है। यह भौगोलिक विभागों को सांस्कृतिक रूप से जोड़ती है।

व्यापारिक महत्वसंपादित करें

इस जलमार्ग से एशिया (यानि जापान, चीन, कोरिया) के लिए तेल जाता है तथा इंडोलेशियाई कॉफ़ी का व्यापार प्रमुख है।

बाहरी कड़ीयाँसंपादित करें

Nahi Hai