मुख्य मेनू खोलें

शरीर के बाहर बाह्य वातावारण में मलेरिया परजीवी के संवर्धन की क्रिया को मलेरिया कल्चर कहते हैं। प्लास्मोडियम फैल्सीपैरम एक मात्र मलेरिया परजीवी है जिसका प्रयोगशाला में सफलता पूर्वक कल्चर किया गया है। सर्वप्रथम 1912 में इस परजीवी को शरीर के बाहर कल्चर करनें का प्रयास किया गया था।[1] 1976 यह सफलता पूर्वक किया गया।[2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Bass CC, Johns FM. (1912). "The Cultivation of Malarial Plasmodia (Plasmodium vivax and Plasmodium Falciparum) in vitro". J. Exp. Med. 16: 567–79. डीओआइ:10.1084/jem.16.4.567.
  2. Trager W, Jensen JB. (1976). "Human malaria parasites in continuous culture". Science. 193(4254): 673–5. PMID 781840. डीओआइ:10.1126/science.781840.