महन्त प्रह्लाद दास बैरागी

महन्त प्रह्लाद दास बैरागी नंदगाँव राज्य के संस्थापक थे[1]‌ इन्होनें सन् १७६५ में अपने शिष्य हरिदास ‌बैरागी के साथ मिलकर नंदगाँव राज्य की नींव रखी थी।[2] प्रह्लाद दास निर्मोही अखाड़ेनिम्बार्क सम्प्रदाय के महंत थे।[3] ये मूलतः पंजाब क्षेत्र से छत्तीसगढ़ के रतनपुर वैष्णव धर्म का प्रचार करने आए थे।[4]

सन्दर्भ संपादित करें

  1. "'राजा भी रहे हैं पंजाब के बैरागी साधु'". punjabkesari. 2020-05-27. अभिगमन तिथि 2021-06-29.
  2. Guptā, Madanalāla (1996). Chattīsagaṛha digdarśana. Śrī Prakāśana.
  3. Oct 5, TNN /; 2020; Ist, 13:46. "In Mahant Ghasidas Museum, the inspiration of Gandhi's '3 Monkeys' | Raipur News - Times of India". The Times of India (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2021-06-29.
  4. "जनसत्ता धर्म दीक्षा: राजा भी रहे हैं बैरागी साधु". Jansatta. 2020-04-27. अभिगमन तिथि 2021-06-29.