१९३६ से १९३९ की अवधि में जर्मन सड़कें (जर्मन आटोबान)

महामार्ग इंजीनियरी या जनपथ इंजीनियरी (Highway engineering), सिविल इंजीनियरी की एक शाखा है जो सड़कों, पुलों, सुरंगों के नियोजन, डिजाइन, निर्माण, परिचालन, और रखरखाव से सम्बन्धित है। द्वितीय विश्वयुद्ध के पश्चात २०वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में महामार्ग इंजीनियरी का महत्व काफी बढ़ गया।

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें