महाराजा बृजराज सिंह (21 फरवरी 1934 - 28 दिसंबर 2020) 20 जुलाई 1991 से कोटा के बीसवें महाराजा थे | वह अपने पिता, महाराव राजा भीमसिंह जी II के एकलौते पुत्र थे | वे एक यदुवंशी राजपूत थे | उन्होंने पहली शादी 5 दिसंबर 1956 को महारानी माहेश्वरी देवी बाईसा, प्रतापगढ़ के महारावत सर राम सिंहजी द्वितीय की बेटी से की थी। और दूसरी बार 21 मई 1963 को कूचबिहार के महाराज कुमार इंद्रजीतेंद्र नारायण की बेटी एच। एच। महारानी उत्तरा देवी के साथ हुआ महाराजा को लीवर में तकलीफ थी, दिल्ली के मेदांता अस्पताल में उपचार के दौरान उनका 28 दिसंबर 2020 को निधन हो गया ।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Brijraj Singh Passes Away: जैसलमेर के पूर्व महाराजा बृजराज सिंह नहीं रहे". Dainik Jagran. अभिगमन तिथि 2021-01-14.