महाशक्ति

ऐसे प्रभुत्व देश जिनका विश्व की राजनितिक, आर्थिक और सामाजिक स्थिति पे महत्वपूर्ण प्रभाव हो

महाशक्ति एक देश है जो पूर्ण विश्व में अपना प्रभाव फैला सकता है, और जो बुद्धिमान तरह से ऐसे करता है। महाशक्तियाँ के पास सैनिक और अर्थशास्त्रीय शक्ति होती है, इसके अलावा राजनायिक प्रभाव और "नम्र" शक्ति (soft power) भी होनी चहिए । इन शक्तियां से छोटे शक्तियां को महाशक्तियां की भावनाएँ का आदर करते है।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मजबूत शक्ति है।[1][2][3]

अगर पुरे विश्व में केवल एक महाशक्ति होती है, तो उस देश को परमशक्ति कहा जाता है।

वर्तमान में, यह कहा गया है कि संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन, रूस, जर्मनी, फ्रांस, यूके और जापान महान शक्तियां हैं।

नोटसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Great Powers". Encarta। (2008)। MSN। अभिगमन तिथि: 2008-12-20 Archived 1 नवम्बर 2009 at WebCiteCS1 maint: Uses authors parameter (link) "Great Powers". Encarta। (2008)। MSN। अभिगमन तिथि: 2008-12-20 Archived 1 नवम्बर 2009 at WebCite
  2. Louden, Robert (2007). The world we want. United States of America: Oxford University Press US. पृ॰ 187. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0195321375. मूल से 19 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 अक्तूबर 2017. |ISBN= और |isbn= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  3. Kelsen, Hans (2000). The Law of the United Nations: A Critical Analysis of Its Fundamental Problems. United States: The Lawbook Exchange, Ltd. पपृ॰ 272–281, 911. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-58477-077-5. मूल से 26 मई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 अक्तूबर 2017. |ISBN= और |isbn= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)