यह सुर्यकांत त्रिपाठी "निराला" जी का जन्म स्थान है। इसी स्थान पर हिंदी के प्रसिद्ध कवि तथा छायावाद के प्रमुख कवि का जन्म हुआ था।

- सूरज बिरादार