माटी की मूरतें १९४६ में प्रकाशित रामवृक्ष बेनीपुरी द्वारा रचित रेखाचित्र-संकलन है, जिसमें बारह रेखाचित्रों का संकलन किया गया है।

अध्यायसंपादित करें

इसमें 'ये माटी की मूरतें'[1] नामक भूमिका के अतिरिक्त १२ रेखाचित्र हैं-

  1. रजिया
  2. बलदेव सिंह
  3. सरजू भैया
  4. मंगर
  5. रूपा की आजी
  6. देव
  7. बालगोबिन भगत
  8. भौजी
  9. परमेसर
  10. बैजू मामा
  11. सुभान खाँ
  12. बुधिया
  13. सचिन खेडेकर

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

संदर्भसंपादित करें

  1. श्रीरामवृक्ष, बेनीपुरी (2010). माटी की मूरतें. दिल्ली: ज्ञान गंगा. पृ॰ 7. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-93-80183-26-8.