मानव रहित विमान (अंग्रेजी:unmanned aerial vehicle या ड्रोन) एक प्रकार का विमान है जिसे सैन्य अभियानों में शत्रु क्षेत्र की टोह लेने एवं आवश्यकता पड़ने पर आक्रमण करने के लिये उपयोग मे लाया जाता है। अन्य क्षेत्रों में इनका उपयोग भूमि एवं सागर के उपर उड़ते हुए सर्वेक्षण करने में भी किया जाता है। चूँकि इन विमानों को रिमोट कंट्रोल के द्वारा नियंत्रित किया जाता इन्हें किसी मानव चालक की उपस्थिति की आवश्यकता नहीं होती है। अपनी इस विशेषता के कारण ही यह टोही विमान के रूप अत्याधिक उपयोग मे लाये जाते हैं। इन विमानों को ड्रोन विमान भी कहा जाता है। ड्रोन अंग्रेज़ी का एक शब्द है और इसका अर्थ नर मधुमक्खी होता है।

एक मानव रहित विमान
मानवरहित विमान (UAV) के प्रमुख अवयव

ड्रोन और प्रक्षेपास्त्र दोनो ही रिमोट संचालित होते है पर इन दोनों मे मुख्य अंतर यह है की जहाँ मानव रहित विमान को पुनः उपयोग मे लिया जा सकता है, प्रक्षेपास्त्र केवल एक बार के उपयोग के लिये ही होता है।

डीआरडीओ निशांतसंपादित करें

डीआरडीओ निशांत एक मानव रहित विमान (यूएवी) है जिसे भारत के वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान जो डीआरडीओ की एक शाखा है, ने भारतीय सशस्त्र बलों के लिए विकसित किया है।