मुख्य मेनू खोलें

माया कोडनानी गुजरात के नरोदा विधानसभा क्षेत्र से १२वीं विधान सभा के लिए निर्वाचित विधायक थी।[1][2] वो तत्कालीन गुजरात सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री थी।[3][2][4] वो प्रथम महिला एवं विधायक हैं जिन्हें गोदरा कांड के बाद के दंगों में अपराधी पाया गया।[5][6] किन्तु 20 अप्रैल 2018 को गुजरात हाई कोर्ट ने उनको निर्दोष घोषित कर दिया।

माया कोडनानी

पद बहाल
2007–2012
चुनाव-क्षेत्र नरोदा

राष्ट्रीयता भारतीय
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
माया कोडनानी
आरोप षड़यंत्र, नरोदा पाटिया नरसंहार में हत्या और दंगे
सज़ा निर्दोष घोषित।
स्थिति 20 अप्रैल 2018 को गुजरात हाई कोर्ट ने उनको निर्दोष घोषित कर दिया।
व्यवसाय राजनीतिज्ञ, स्त्रीरोग विशेषज्ञ

सन्दर्भ

  1. "TWELFTH GUJARAT LEGISLATIVE ASSEMBLY". गुजरात विधानसभा http://www.gujaratassembly.gov.in. अभिगमन तिथि 19 नवम्बर 2013. |publisher= में बाहरी कड़ी (मदद)
  2. "For Maya Kodnani, riots memories turn her smile into gloom". डीएनए इण्डिया. 21 फ़रवरी 2012. अभिगमन तिथि 7 जून 2012.
  3. आकार पटेल (19 नवम्बर 2013). "...इसलिए नहीं है राज्यों में मोदी फ़ैक्टर". बीबीसी हिन्दी. अभिगमन तिथि 19 नवम्बर 2013.
  4. "Maya Kodnani led mob to carry out Naroda riot: Gujarat govt to HC". इकोनोमिक टाइम्स ऑफ़ इण्डिया. 21 फ़रवरी 2009,. अभिगमन तिथि 7 जून 2012. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  5. "माया कोडनानी को सशर्त ज़मानत". बीबीसी हिन्दी. 12 नवम्बर 2013. अभिगमन तिथि 19 नवम्बर 2013.
  6. "Naroda Patiya riots: Former minister Maya Kodnani gets 28 years in jail". एनडीटीवी. अभिगमन तिथि 17 नवंबर 2012.