मारोतराव कन्नमवार एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। वे २० नवंबर १९६२ से २४ नवंबर १९६३ तक महाराष्ट्र के दुसरे मुख्यमंत्री रहे थे और अपने कार्यकाल में ही उनकी मृत्यु हो गई।[1]

चन्द्रपूर जिले के साओली विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ थे। वह एक प्रभावशाली राजनीतिज्ञ थे और १९६२ के भारत-चीन युद्ध के दौरान उनकी प्रार्थना पर, चंद्रपुर जिले ने महाराष्ट्र में से मुम्बई के बाद अधिकतम सोना एकत्र किया।[2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Chief ministers who died in office" [अपने कार्यकाल में मरने वाले मुख्यमंत्री]. live mint (अंग्रेज़ी में). ७ जनवरी २०१६. अभिगमन तिथि १८ जुलाई २०१७.
  2. "Fadnavis unveils statue of former CM Marotrao Kannamwar" [फडनवीस ने पूर्व मुख्यमंत्री मारोतराव कन्नमवार की प्रतिमा का अनावरण किया]. freepressjournal (अंग्रेज़ी में). ५ अप्रेल २०१७. अभिगमन तिथि १८ जुलाई २०१७. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)