मार्टिन निमोलर दी सिंत-जैक्सब्र्क ग्रेट पर मई 1952 में

फ्रेडरिक गुसताव एमिल मार्टिन निमोलर (German: [ˈniːmœlɐ]; 14 जनवरी 1892 – 6 मार्च 1984) जर्मन -धर्म शाष्त्री [1] और लूथार्वादी प्रचारक थे । वह अपनी कविता "पहले वो आए ..." के लिए आज भी चर्चा में हैं ।

मार्टिन निमोलर
जन्म फ्रेडरिक गुसताव एमिल मार्टिन निमोलर
14 जनवरी 1892
लिपसतात , जर्मन सल्तनत
मृत्यु 6 मार्च 1984(1984-03-06) (उम्र 92)
वेस्बादेन, पश्चिम जर्मनी
पहले वो अए

पहले वो आए कम्यूनिस्टों के लिए
मै खामोश रहा ,क्योंकि मै कम्यूनिस्ट नहीं था
फिर वो ट्रेड युनियन वालों के लिए आए
मै खामोश रहा ,क्योंकि मै ट्रेड युनियन में नहीं था
फिर वो यहूदीओं के लिए आए
मै खामोश रहा ,क्योंकि मै यहूदी नहीं था
फिर वो मेरे लिए आए
अब बोलने के लिए कोई नहीं बचा था

वे एडोल्फ़ हिटलर के विरोधी थे ,[2]

संधर्भसंपादित करें

साँचा:संधर्भ

  1. "Niemöller, (Friedrich Gustav Emil) Martin" The New Encyclopædia Britannica (Chicago: University of Chicago, 1993), 8:698.
  2. Stein, Leo (1941). "NIEMOELLER speaks! An Exclusive Report By One Who Lived 22 Months In Prison With The Famous German Pastor Who Defied Adolf Hitler". The National Jewish Monthly. पपृ॰ 284–5, 301–2. नामालूम प्राचल |month= की उपेक्षा की गयी (मदद)